Saturday, October 1, 2022
to day news in chandigarh
HomeUncategorizedअपने मौत के बाद भी 7 माह ऑनलाइन थी महिला, सच खुला...

अपने मौत के बाद भी 7 माह ऑनलाइन थी महिला, सच खुला तो उड़े पुलिस के होश

ऑय 1 न्यूज़ 24 दिसम्बर 2018 (रिंकी कचारी) उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में एक हैरान कर देने वाले हत्याकांड का खुलासा हुआ है. यहां के चर्चित डॉक्टर डीपी सिंह को उनकी पूर्व पत्नी राखी श्रीवास्तव की हत्या के आरोप में यूपी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि सात माह पहले उसने राखी को नेपाल के पोखरा में पहाड़ से खाई में ढकेल कर हत्या कर दी थी. यही नहीं, वह पुलिस को गुमराह करने के लिए कई महीनों तक उसके सोशल मीडिया अकाउंट को अपडेट करता रहा.

आरोपी डॉ. डीपी सिंह ने एसटीएफ को पूछताछ में बताया कि वह राखी श्रीवास्तव को छठीं बार में मारने में कामयाब रहा. इसके पहले उसने पांच बार उसकी हत्या की कोशिश की थी, लेकिन वह हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था. हत्या के आरोपी ने यह भी बताया कि राखी उसे ब्लैकमेल कर रही थी, जिससे वो परेशान हो चुका था. उसने हत्या के बाद कई दिनों तक उसके घर वालों को गुमराह किया. जब उसके घर वाले राखी के बारे में पूछते थे तो वह टाल देता था. इस पूरे हत्याकांड का खुलासा रेखा की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज होने के बाद हुआ.

शुरूआती जांच में पुलिस ने राखी के दूसरे पति मनीष सिन्हा को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की, लेकिन पुलिस को कुछ हासिल नहीं हुआ. जांच एसटीएफ के पास पहुंची, तो पुलिस ने राखी के पहले पति डॉक्टर डीपी सिंह से पूछताछ की, जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ.

यूपी एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश ने खुलासा किया कि पुलिस जांच में डॉक्टर डीपी सिंह की भूमिका पर संदेह हुआ. मोबाइल लोकेशन और कॉल डिटेल से जांच के बाद पता चला कि जिस समय वह गायब हुई, उस समय उसका लोकेशन नेपाल में था. एसटीएफ टीम ने नेपाल से जानकारी जुटाई तो वहां 8 जून को एक युवती की लाश मिलने की बात सामने आई. एसटीएफ ने उसकी पहचान राखी के रूप में करने के बाद जांच का दायरा बढ़ा दिया.

पुलिस ने बताया कि राखी अपने पति मनीष सिन्हा के साथ फ्लाइट से नेपाल गई थी. फिर वह नेपाल में ही रुक गई और मनीष लौट आया. उसी दौरान राखी से बातचीत के बाद डॉ. डीपी सिंह भी अपने दो कर्मचारी प्रमोद कुमार सिंह तथा देशदीपक के साथ नेपाल पहुंच गए थे. राखी को लेकर तीनों पोखरा गए वहां उसे शराब में नशीली दवा पिलाकर तीनों ने मिलकर पहाड़ से ढकेल कर उसकी हत्या कर दी. पुलिस ने बताया कि डॉक्टर डी.पी सिंह ने अपनी पहली पत्नी को बिना बताए राखी से शादी की थी. फिर जब डॉ. डीपी सिंह की पहली पत्नी ऊषा सिंह को इस बारे में जानकारी लगी तो विवाद शुरू हुआ, जिसके बाद डॉक्टर ने राखी से किनारा कर लिया और साल 2016 में बिहार के रहने वाले मनीष सिन्हा से दूसरी शादी कर ली. पहली पत्नी से विवाद के बाद जब डॉक्टर ने फिर राखी से बातचीत शुरू की, तो उसने ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. जिसके बाद उन्होंने उसकी हत्या की साजिश रची और वारदात को अंजाम दिया.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments