आज डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती के उपलक्ष्य में महिला मोर्चा ज़िला पंचकूला द्वारा संगोष्ठी का आयोजन

0
24

आई 1 न्यूज़ पंचकूला (अमित सेठी ) आज डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती के उपलक्ष्य में महिला मोर्चा ज़िला पंचकूला द्वारा संगोष्ठी का आयोजन भाजपा कार्यालय पंचकूला में किया गया। इस कार्यक्रम की संयोजक महिला मोर्चा ज़िला अध्यक्ष वैशाली कंसल के नेतृत्व में चंडीगढ़ व पंचकूला की समाजिक पृष्ठभूमि में सक्रिय महिलाओं ने हिस्सा लिया। इस संगोष्ठी की मुख्यातिथि भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा चौहान जी उपस्थित रही । संगोष्ठी की शुरुआत डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की जयंती पर उन्हें पुष्प अर्पित कर की गई। इस संगोष्ठी में प्रदेश कोषाध्यक्ष वीरेंद्र गर्ग, प्रदेश प्रवक्ता और पंचकूला प्रभारी डॉक्टर संजय शर्मा, प्रदेश में प्रवक्ता रंजीता मेहता, प्रदेश पूर्व प्रवक्ता पैनलिस्ट एडवोकेट नेहा धवन, हांसी, पंचकूला भाजपा जिला महामंत्री परमजीत कौर व मुख्य रूप से उपस्थित रहीं पंचकूला की बहनों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया । सुमित्रा जी ने अपने वक्तव्य में जन संघ के संस्थापक डॉ श्याम प्रसाद मुखर्जी जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस देश की अखंडता और एकता को बनाये रखने के लिए उन्होंने जो आदर्श दिए एक देश, एक विधान, एक प्रधान पर आज के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी चल रहे है। उन्होंने उनके जीवन के बलिदानों को याद करते हुए , धारा 370 हटाने के लिए जो संघर्ष किया के विषय मे भी प्रकाश डाला। डॉ संजय शर्मा ने संगठन की विचारधारा राष्टव्यापी थी है और रहेगी पर मत रखा। रंजीता मेहता ने भारतीय जन संघ के आदर्शों पर आधार्रित भारतीय जनता पार्टी की विशेषताओं पर विचार रखते हुए बताया कि ये संगठन डॉ श्यामा प्रसाद जी के आदर्शों को फलीभूत कर रही है। उनके बलिदान व्यर्थ नही गए। आज देश विश्वगुरु बनने की ओर बढ़ रहा है। वीरेंद्र जी ने डॉ प्रसाद जी को अपने शब्दों में याद किया। एडवोकेट नेहा धवन ने देश की आज़ादी के बाद देश के पहले उद्योग मंत्री, सबसे कम उम्र के बंगाल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी को याद करते हुए नमन किया। इस अवसर पर महिला मोर्चा महामंत्री प्रीति जस्सल जी और डिंपल लुंबा,रही इसके साथ उपाध्यक्ष वंदना जिंदल जी ,नीतू जी सुखविंदर जी ,सचिव अनु जी हरविंदर जी ,मंजू बंसल जी ,मंडल अध्यक्ष बहने पूनम जी, सुमन जी निशा जी, रेखा जी ,मीता जी रही। इसके साथ अन्य सभी बहनों ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here