संघर्षी लोगों की आवाज को दबा रही है कांग्रेस सरकार- विधायका रुपिन्दर रूबी  पटियाला और बठिंडा में प्रदर्शनकारी महिलाओं पर पुलिस बल का प्रयोग करना बेहद शर्मनाक

0
155

आई १ न्यूज़ बठिंडा, 13 मार्च 2021 (अमित सेठी ) आम आदमी पार्टी की बठिंडा देहाती से विधायिका रुपिन्दर कौर रूबी ने अपनी मांगों को लेकर संघर्ष कर रही प्रदेश की विभिन्न जत्थेबंदियों के साथ कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार की ओर से महिला दिवस मौके महिला वर्करों पर पुलिस द्वारा किए गए अत्याचार की निंदा करते बेहद शर्मनाक करार दिया। विधायका रुपिन्दर कौर रूबी ने सभी जत्थेबंदियों को एक संयुक्त संगठन के अधीन इकठ्ठा होने का आह्वान किया है। विधायका रूबी ने जारी बयान में कहा कि अकाली भाजपा और कांग्रेस सरकार ने हकों के लिए लड़ते संघर्षी लोगों के साथ मारपीट और झूठे मामले दर्ज करके आवाज़ को दबाने की कोशिश की है। जिस की ताजा मिसाल पटियाला में रोजगार मांग रहे बेरोजग़ार अध्यापक और बठिंडा में प्रदर्शनकारी आंगणवाड़ी वर्करों और पुलिस की ओर से बल का प्रयोग करना सामने है। उन्होंने कहा कि बीते दिनों बजट सैशन के दौरान भी कांग्रेस सरकार के हर फ्रंट पर फेल होने पर खूब फटकार लगाई थी। उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस की सरकार समय मुलाजिम, मजदूर, किसान,व्यापारी, अध्यापक और नौजवान सडक़ों पर अपने हक मांग रहे हैं और घर-घर नौकरी का वायदा करके सत्ता में आई कांग्रेस सरकार महिलाओं से मारपीट करके डराने की कोशिश कर रही है।
उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली प्रदेश कांग्रेस सरकार को सबक सिखाने के लिए किसान जत्थेबंदियों की तर्ज पर सभी जत्थेबंदियों को एक संयुक्त फ्रंट के  नीचे इकठ्ठा होने की जरूरत है। जिससे तानाशाह सरकार को सबक सिखाया जा सके। इस लिए सभी इंसाफ पसंद लोगों को एक होने की जरूरत है।
विधायिका रुपिन्दर कौर रूबी ने कहा कि इस बार के विधानसभा के बजट सैशन दौरान विशेष तौर पर बेरोजगार, मुलाजिम, कच्चे कामगार,आशा वर्कर और आंगणवाड़ी वर्करों के मुद्दे विशेष तौर पर उठा कर विरोधी पक्ष का फर्ज निभाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जत्थेबंदियां पिछले लंबे समय से अपने हक मांग रही हैं लेकिन वोट लेने के बाद सरकारों की ओर से संघर्षी लोगों के साथ मारपीट की जाती है। उन्होंने कहा कि उपयुक्त समय आने पर नौजवान वर्ग के लिए रोजगार के मौके पैदा किए जाएंगे, मुलाजिमों को बकाए और अन्य लाभ दिए जाएंगे और केवल महिला कामगार आशा वर्कर, आंगणवाड़ी वर्कर और मिड डे मील आदि को बनता हक दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here