नए साल 2019: 1 जनवरी से शुरू होगी मोदी सरकार की बड़ी योजना, 28 दिसंबर तक करें अप्लाई

0
581

ऑय 1 न्यूज़ 26 दिसम्बर 2018 (रिंकी कचारी) नए साल 1 जनवरी से मोदी सरकार सोलर वाटर पम्पिंग “वरुण मित्र” कार्यक्रम के तहत युवाओं को ट्रेनिंग देगी.इस ट्रेनिंग कार्यक्रम में हिस्‍सा लेने के लिए अप्‍लाई करने का आखिरी मौका 28 दिसंबर है..मोदी सरकार युवाओं में स्किल डेवलप करने और नौकरी देने के लिए अपनी योजनाओं के जरिए लगातार प्रयास कर रही है. इसी के तहत सरकार की ओर से कई मित्र कार्यक्रम भी चलाए जा रहे हैं. हाल ही में केंद्र सरकार ने बताया गया था कि महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना के तहत एक लाख ‘आयुष्मान मित्र’ की भर्ती की योजना है. इसी कड़ी में अब सरकार ने वरुण मित्र बनाने की घोषणा की है. वरुण मित्र बनाने के लिए सरकार की ओर से निशुल्‍क ट्रेनिंग भी दी जाएगी.

क्‍या है वरुण मित्र कार्यक्रम

दरअसल, मिनिस्‍ट्री ऑफ न्‍यू एंड रिन्‍यूएबल एनर्जी (एमएनआरई) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सोलर एनर्जी (एनआईएसई) की ओर से वरुण मित्र कार्यक्रम संचालित किया जाता है. इसे सोलर वॉटर पम्पिंग “वरुण मित्र” कार्यक्रम कहा जाता है. इस कार्यक्रम के जरिए लोगों को सोलर सिस्टम के बारे में प्रशिक्षित किया जाता है. इस ट्रेनिंग में लोग रिन्यूएबल एनर्जी, सोलर रिसोर्स असेसमेंट वाटर टेबल, सोलर वाटर पम्पिंग कंपोनेंट के अलग- अलग तरीकों से अन्‍य जरूरी प्रशिक्षण ले सकेंगे. इसके अलावा कार्यक्रम में सोलर पीवी वॉटर पम्पिंग सिस्टम के लिए सेफ्टी प्रैक्टिस, ऑपरेशन एंड मेंटनेंस, टेस्टिंग एवं कमीशनिंग की भी जानकारी दी जाती है.

कैसे दी जाएगी ट्रेनिंग

इस कार्यक्रम में शामिल लोगों को ट्रेनिंग के लिए सिर्फ क्लास रूम लैक्चर नहीं होगा बल्कि प्रैक्टिकल हैंडस-ऑन, फील्ड विजिट, इंडस्ट्रियल विजिट, लैब एक्सपेरिटमेंट भी कराया जा सकेगा. इस ट्रेनिंग कार्यक्रम में हिस्‍सा लेने के लिए 28 दिसंबर तक अप्‍लाई करना होगा. वहीं ट्रेनिंग 1 जनवरी से 19 जनवरी 2019 के बीच दी जाएगी. इसमें आपको 120 घंटे क्लास दी जाएगी.

इस कार्यक्रम के बारे में विस्‍तृत जानकारी के लिए आप सरकार की वेबसाइट https://mnre.gov.in/sites/default/files/webform/notices/Revised%20Solar%20Water%20Pumping%20System.pdf पर विजिट कर सकते हैं. इस लिंक से एप्‍लीकेशन फॉर्म को डाउनलोड किया जा सकता है. बता दें कि ट्रेनिंग गुरुग्राम, ग्वाल पहाड़ी स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ सोलर एनर्जी के परिसर में दी जाएगी.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here