मुख्यमंत्री का ताज पहन चुके, जयराम ठाकुर,समर्थकों में खुशी की लहर .

0
842
हिमाचल प्रदेश चुनाव से पहले जयराम ठाकुर का नाम हिमाचल से बाहर की सियासत में पहले, दूसरे या तीसरे पायदान पर कहीं नहीं था. लेकिन, आज वो मुख्यमंत्री का ताज पहन चुके हैं. विधायक दल की बैठक के बाद केंद्रीय पर्यवेक्षक नरेंद्र तोमर ने जैसे ही ऐलान किया कि ठाकुर, हिमाचल के नए सीएम होने जा रहे हैं, समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई.

जयराम ठाकुर का जन्म साल 1965 में मंडी जिले के एक किसान परिवार में हुआ. परिवार में तीन बेटे और दो बेटियां थीं. जयराम को सबसे छोटा बच्चा होने का ये फायदा मिला कि उनके पिता और भाइयों ने उनकी शिक्षा के लिए खेतों में कड़ी मेहनत की.

ठाकुर ने पॉलिटिक्स में आने से पहले पढ़ाई के मैदान में भी जमकर झंडे गाढ़े. चंडीगढ़ की पंजाब यूनिवर्सिटी से उन्होंने एमए किया. परिवार में संपन्नता नहीं थी. जाहिर है, घरवाले उनसे किसी नौकरी की आस लगाए बैठे थे.

बीजेपी ने हिमाचल प्रदेश में जयराम ठाकुर को मुख्यमंत्री बनाया है. आज विधायक दल की मीटिंग में ये फैसला हुआ है. जयराम ठाकुर सिराज सीट से विधायक बने हैं.

1998 में पहली बार विधायक बने जयराम अब तक पांच बार विधायक बने हैं. इससे पहले वे प्रेम कुमार धूमल की सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री भी रह चुके हैं.

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में बीजेपी की जीत के बाद मुख्यमंत्रियों की नियुक्ति पर सस्पेंस कायम था. गुजरात में विजय रूपानी के साथ दोबारा पारी शुरू कर एक राज्य में तो बीजेपी ने पहले ही तस्वीर साफ कर दी थी.

1998 में लोगों की उम्मीद के उलट बीजेपी ने उन पर एक बार फिर भरोसा जताया. इस बार वो आसानी से जीत गए. मंडी की इसी सिराज सीट से वो एक बार नहीं बल्कि पांच बार जीते. हालांकि 2013 में हुए मंडी लोकसभा उपचुनाव में वो वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह से हार गए थे.

2008 में प्रेम कुमार धूमल की सरकार में जयराम ठाकुर को ग्रामीण विकास मंत्री बनाया गया. साल 2007 से 2009 के बीच जयराम, हिमाचल प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष की कुर्सी पर भी काबिज रहे.

यूं तो सीएम पद की रेस में जेपी नड्डा भी थे लेकिन अंत में बाजी जयराम ठाकुर के हाथ में ही लगी. हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव की 68 सीटों में से बीजेपी ने 44 पर जीत दर्ज की थी.




किसी जीवित व्यक्ति की इस जीवनी को सत्यापन के लिए अतिरिक्त उद्धरणों की आवश्यकता है। विश्वसनीय सूत्र जोड़कर कृपया मदद करें। जीवित व्यक्तियों के बारे में विवादास्पद सामग्री जो बिना सोर्स की गई या खराब ख़राब है, उन्हें तत्काल हटा दिया जाना चाहिए, खासकर यदि संभावित रूप से अपमानजनक या हानिकारक। (जनवरी 2012) (इस टेम्पलेट संदेश को कैसे और कब निकालना सीखें)
माननीय
जय राम ठाकुर हिमाचल प्रदेश के 13 वें मुख्यमंत्री


जन्म 6 जनवरी 1 9 65 (52 वर्ष)
मंडी जिला, हिमाचल प्रदेश, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी

निवास ग्राम तन्दी, पीओ। और तहसील थुनग जिला मंडी
अल्मा माते सरकार कॉलेज, मंडी

जय राम ठाकुर (जन्म 6 जनवरी 1 9 65) [1] 13 वें और हिमाचल प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री हैं। [2] नवंबर 2017 में विधानसभा चुनावों में मुख्य मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल की हार के बाद उन्हें 24 दिसंबर 2017 को भाजपा विधायक दल के नेता चुने गए थे। वह 1 99 8 से हिमाचल प्रदेश विधानसभा में विधायक रहे हैं और पहले कैबिनेट मंत्री रहे हिमाचल प्रदेश की भाजपा सरकार वह 2007-2012 से ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री थे। वह मंडी में सिराज से हिमाचल प्रदेश विधानसभा के लिए चुने गए हैं। उन्होंने 1 99 8 के साल में अब तक चुआचिट (सीरज) के सीमांकित निर्वाचन क्षेत्र से अपना पहला चुनाव जीता। [3]
प्रारंभिक जीवन और शिक्षा

मंडी में एक राजपूत परिवार से जन्मे, और सरकार के वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बगियाद से उनकी पढ़ाई की।
राजनीति

छात्र संगठन के साथ लंबे समय से सहयोग के साथ, उनके स्नातक होने के दौरान उन्हें एबीवीपी के साथ पेश किया गया था। वह संयुक्त सचिव, राज्य एबीवीपी, 1 9 86; आयोजन सचिव, एबीवीपी (जम्मू और कश्मीर), 1989-93; राज्य सचिव, भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा; 1993-1995; राष्ट्रपति: राज्य भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा, ii) बी जे पी। जिला मंडी 2000-03; उपाध्यक्ष राज्य भाजपा, 2003-05; और राष्ट्रपति राज्य भारतीय जनता पार्टी 2006-09 [1] पार्टी अध्यक्ष के रूप में उनका कार्य गैर-विवादास्पद और स्वीकार्य माना जाता है। [राय]

1 99 8 में राज्य विधान सभा में चुने गए; और 2003 और 2007 में चुचियुथ विधानसभा क्षेत्र से फिर से निर्वाचित हुए, जिसके बाद सीमांकन का नाम बदल गया। अध्यक्ष बने, सामान्य विकास समिति और शिक्षा समिति; और उपाध्यक्ष, राज्य नागरिक आपूर्ति निगम लिमिटेड

इसके अलावा 9-07-2012 को पंचायती राज और ग्रामीण विकास मंत्री के रूप में मंत्री परिषद में शामिल होने से पहले अध्यक्ष, ग्रामीण नियोजन समिति और विभिन्न अन्य सदन समितियों के सदस्य बने रहे।

दिसंबर, 2012 में लगातार चौथे कार्यकाल के लिए राज्य विधान सभा में चुने गए। वर्तमान में वह हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here