Saturday, October 1, 2022
to day news in chandigarh
Homesingle news70 वर्षों के इतिहास में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम जजों को प्रेस...

70 वर्षों के इतिहास में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम जजों को प्रेस कांफ्रेंस करनी पड़ी। लोकसभा का सत्र छोटा किया जा रहा है।

देश के हालात इमजेंसी जैसे हो गए हैं  70 वर्षों के इतिहास में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम जजों को प्रेस कांफ्रेंस करनी पड़ी। लोकसभा का सत्र छोटा किया जा रहा है। विरोध करने वालों को किनारे लगाया जा रहा है। सीबीआई और ईडी का दुरुपयोग किया जा रहा है। सत्ता के लिए भाजपा किसी भी हद तक जाने को तैयार है। मैंने तो शत्रुघ्न सिन्हा को जेल जाने तक के लिए तैयार कर लिया है।’ यह बातें पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने रविवार को सेक्टर-9 स्थित पूर्व केंद्रीय मंत्री हरमोहन धवन के निवास पर आयोजित एक जनसभा में कहीं।
उन्होंने कहा मीडिया को दबाया जा रहा है। वहीं, जनसभा में शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि अगर सच कहना बगावत है तो मैं बागी हूं। व्यक्ति से बड़ी पार्टी है और पार्टी से बड़ा राष्ट्र है। उन्होंने कहा कि मैं ताली का पात्र हूं गाली का नहीं। शत्रुघ्न सिन्हा ने केंद्र सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि एक वर्ष में 365 दिन होते हैं लेकिन जीएसटी में अब तक 357 संशोधन हो चुके हैं। उन्होंने कर्नाटक प्रकरण पर कटाक्ष करते हुए कहा कि न खाऊंगा, न खाने दूंगा का नारा देने वाले आज कर्नाटक में विधायकों की खरीद-बिक्री की दुकान लगाकर बैठे थे।

वाजपेयी जी होते तो विपक्ष में बैठते। अंत में क्या हुआ, बदनामी ही हुई। शत्रुघ्न सिन्हा ने उपस्थित लोगों से कहा कि सही दिशा की ओर बढ़ो, बदनाम के साथ नहीं। यह सब बात दिल की बात कर रहा हूं। मन की बात तो किसी और की पेटेंट हो गई है। उन्होंने कहा कि एक गुट एक जुट हो जाएं। बहुत अच्छे दिन आएंगे।

मेरी पहचान भाजपा से नहीं जनता से: हरमोहन धवन
पूर्व केंद्रीय मंत्री हरमोहन धवन ने कहा कि मेरी पहचान भाजपा से नहीं है। मेरी पहचान आप लोगों से है। हमेशा लोगों के लिए संघर्ष किया है। और आगे भी करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि लोकसभा के आम चुनाव में चंडीगढ़ के घोषणापत्र में 60 वादे किए गए थे। उनके से एक भी वादा पूरा नहीं किया गया।

उन्होंने कहा कि वे दबाव में आनेवाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि हमें राजनीति में सिखाया गया है कि जब विपक्ष में रहो तो संघर्ष कर जनता को न्याय दिलाओ और सत्ता में रहो तो कलम की ताकत से काम करो। उन्होंने कहा कि वे दोनों कसौटियों पर खरे उतरे हैं। हरमोहन धवन ने कहा कि दो लोगों की पार्टी है। देश को बर्बाद किया जा रहा है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments