Friday, October 7, 2022
to day news in chandigarh
Homeहिमाचलफोरलने निर्माण की बलि चड़ रहे 150 मकैनिक मोटर मार्किट को कल...

फोरलने निर्माण की बलि चड़ रहे 150 मकैनिक मोटर मार्किट को कल तक तोड़ने के आदेश हुए जारी 

आई 1 न्यूज़  24 मार्च 2018 ( अमित सेठी ) फोरलने निर्माण की बलि चड़ रहे 150 मकैनिक मोटर मार्किट को कल तक तोड़ने के आदेश हुए जारी  मोटर मैकेनिकों ने प्रदेश सरकार से उन्हें पुनः बसाने की लगाई गुहार  फोरलने निर्माण के दुसरे चरण में चंबाघाट मोटर मार्केट को तोड़ने के आदेश जारी कर दिए गए है | जिसे कल तक का समय दिया गया है | जिसके चलते मोटर मार्केट के करीबन 150 मकैनिक एक दम बेरोजगार हो जाएंगे यही कारण है कि दो दशकों से इस मोटर मार्केट में काम कर रहे इन मैकेनिकों के माथे पर चिंता की लकीरे गहराती जा रही है | मकैनिक का काम करते करते उनका इसी मोटर मार्केट में आधे से ज्यादा जीवन बीत चुका  है जहाँ वह किसी तरह से अपने परिवार का भरन पोषण कर रहे थे अपने बच्चों की अच्छी पढाई और परवरिश के सपने देख रहे थे  लेकिन इस मोटर मार्केट के उजड़ने से उनके यह सभी सपने कांच की तरह चकना चूर हो चुके है | गौर तलब है कि उन्हें यह पता था कि यह मार्केट उजड़ने वाली है जिसके लिए वह करीबन छे वर्षों से ट्रांसपोर्ट नगर की मांग करते रहे लेकिन प्रशासन और सकरार ने उनकी मांग की और कोई गौर नहीं किया | अब भाजपा सरकार ने उन्हें ट्रांसपोर्ट नगर देने की बात कही है लेकिन जब तक यह नगर बसेगा तब तक इतने मकैनिक अपनी रोजी रोटी कैसे कमाएंगे शायद इसका जवाब किसी के पास नहीं है  मकैनिकों ने इस बारे में रोष प्रकट करते हुए कहा फोरलेन के चलते आज वह सभी उजड़ने की कगार पर है जिसकी वजह से भविष्य को लेकर  वह बेहद सहमे और डरे हुए है उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि वह परिवार का गुजारा कैसे करेंगे | उन्होंने कहा कि वह अपने परिवार के मुखिया है सारा परिवार उन पर निर्भर करता है और एकाएक  बेरोजगार होने से वह अपने बच्चों की शिक्षा का खर्चा भी नहीं उठा पाएंगे | उन्होंने प्रदेश सरकार से गुहार लगाई है कि अगर वह उन्हें अस्थाई तौर पर ट्रांसपोर्ट नगर की भूमि पर वर्कशॉप  लगाने की अनुमति दे दें तो उन्हें बेरोज़गारी की चिंता से मुक्ति मिल सकती है | जिसके लिए वह मुख्यमंत्री और जिला उपायुक्त को लिखित में आग्रह पत्र दे चुके है |

बाईट मैकैनिक
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments