Wednesday, September 28, 2022
to day news in chandigarh
HomeUncategorizedपत्नी पर था अवैध संबंध का शक, सोते वक्त बेरहमी से मार...

पत्नी पर था अवैध संबंध का शक, सोते वक्त बेरहमी से मार डाला

ऑय 1 न्यूज़ 4 जनवरी 2019 (रिंकी कचारी) Wife Murder पन्ना बाई अपनी दो बेटियों संजीता और रंजीता के साथ अपने कमरे में सो रही थी. तभी अचानक उसका पति नरेंद्र लोहे का तवा लेकर कमरे में जा पहुंचा और उसने सो रही पत्नी के सिर पर तवे से एक बाद एक कई वार कर डाले. पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है. छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक शख्स ने अपनी पत्नी को मौत के घाट उतार दिया. पहले उसने लोहे के तवे से उसके सिर पर कई बार वार किए और फिर उसका गला दबाकर उसे मौत की नींद सुला दिया. उसके सिर पर जैसे कोई शैतान सवार था. वो हर हाल में अपनी पत्नी को मार देना चाहता था. इसलिए उसने खौफनाक तरीके से कत्ल की इस वारदात को अंजाम दिया.

हत्या की यह घटना कोरबा के बालको थाना क्षेत्र की है. जहां अंबेडकर चौक के पास नरेंद्र अनंत अपने परिवार के साथ रहता था. पिछले कुछ समय से उसे अपनी पत्नी पन्ना बाई पर शक था कि उसके किसी गैर मर्द के साथ संबंध हो गए हैं. इसी बात लेकर आए दिन पति-पत्नी के बीच झगड़ा होता था.

पुलिस के मुताबिक गुरुवार की सुबह करीब 5 बजे का वक्त था. पन्ना बाई अपनी दो बेटियों संजीता और रंजीता के साथ अपने कमरे में सो रही थी. तभी अचानक उसका पति नरेंद्र लोहे का तवा लेकर कमरे में जा पहुंचा और उसने सो रही पत्नी के सिर पर तवे से एक बाद एक कई वार कर डाले.

इस दौरान महिला की चीख और शोर शराबा सुनकर दोनों बच्चियां भी उठ गईं. वो दोनों अपनी मां को बचाने की कोशिश करने लगी. नरेंद्र को उन पर भी दया नहीं आई. उसने दोनों बेटियों की पिटाई कर दी. जिससे वो दोनों भी घायल हो गईं. नरेंद्र ने पाया कि तवे के वार से भी पन्ना नहीं मरी तो उसने पन्ना का गला दबा दिया. जिससे उसकी दर्दनाक मौत हो गई.

घटना के फौरन बाद दोनों लड़कियां किसी तरह से घर के बाहर निकल गईं और उन्होंने पास पड़ोस के लोगों को इस बारे में बताया. तब किसी ने पुलिस कंट्रोल रूम को फोन कर घटना की जानकारी दी. पुलिस ने मौके पर जाकर आरोपी नरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया.

पूछताछ में पुलिस को पता चला कि इससे पहले भी एक बार नरेंद्र अंनत ने अपनी पत्नी पन्ना पर लोहे की रॉड से हमला किया था. जिसकी वजह से नरेंद्र को जेल जाना पड़ा था. बाद में वो जमानत पर रिहा होकर बाहर आया और इस घटना को अंजाम दे डाला.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments