Wednesday, September 28, 2022
to day news in chandigarh
Homeपंजाबपंजाब के वित्तमंत्री मनप्रीत बादल ने आज प्रदेश का दूसरा...

पंजाब के वित्तमंत्री मनप्रीत बादल ने आज प्रदेश का दूसरा बजट किया जारी |

आई 1 न्यूज़  24 मार्च 2018 ( अमित सेठी ) पंजाब के वित्तमंत्री मनप्रीत बादल आज प्रदेश का दूसरा बजट किया, जिसमें सरकार की ओर से आयकर भरने वालों को बड़ा झटका दिया गया। बजट के तहत आयकर भरने वालों पर 200 रुपये प्रतिमाह पंजाब डेवेलपमेंट टैक्स लगाने का प्रस्ताव रखा गया। बजट पेश करते समय वित्तमंत्री मनप्रीत बादल के लिए सबसे बड़ी चुनौती राज्य को बेहद खराब आर्थिक हालत से उबारने की रही। क्योंकि पटरी से उतरी हुई अर्थव्यवस्था से निपटना आसान नहीं है। राज्य पर कर्ज और सब्सिडी का बोझ बढ़ता जा रहा है। मनप्रीत बादल ने कुल 129698 करोड़ का बजट पेश किया है। इसके तहत किसानों की कर्जमाफी के लिए 4250 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया। पराली की समस्या से निपटने के लिए बजट मे 100 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। बिजली सब्सिडी के लिए 1440 करोड़ रुपये दिए गए। नाभा में फोकल प्वाइंट बनाने का प्रस्ताव रखा गया। श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव के लिए 100 करोड़ का प्रस्ताव रखा गया। जलियांवाला बाग की शताब्दी के लिए 10 करोड़ रुपये दिए गए वित्तमंत्री ने ऐलान किया पंजाब सरकार स्कूलों में छठी से बारहवीं क्लास तक की छात्राओं को फ्री सेनेटरी नैपकिन देगी। इसके लिए 10 करोड़ का प्रावधान किया गया। पहली से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों पाठ्यपुस्तक देने के लिए 49 करोड़ का प्रावधान किया गया चंडीगढ़ स्थित पंजाब विश्वविद्यायल को दी जाने वाली ग्रांट बढ़ाकर 42.62 करोड़ कर दी गई है। पंजाबी यूनिवर्सिटी को 50 करोड़ रुपये वन टाइम ग्रांट देने की घोषणा की गई। पटियाला में स्पोर्ट्स यूनिवर्सटी के लिए 10 करोड़ रखा गया। मनप्रीत बादल ने बजट के तहत अनुसूचित जाति व पिछड़ी जाति के लिए 1235 करोड़ रुपये दिए। शैक्षिक तकनीकी एवं व्यवसायिक संस्थानों में पिछड़ी श्रेणी के विद्यार्थियों का कोटा 5 से बढ़ाकर 10 किया गया। उच्च शिक्षा के विकास के लिए 120 करोड़ रुपये दिए गए मुख्यमंत्री कैंसर राहत कोष के लिए 30 करोड़ का प्रावधान किया गया। स्वास्थ्य के लिए 13 फीसदी बजट बढ़ाया गया है। स्वच्छ भारत मिशन के लिए 100 करोड़ का प्रावधान किया गया है। स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत लुधियाना, अमृतसर और जालंधर के लिए 500 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments