Wednesday, September 28, 2022
to day news in chandigarh
Homeचंडीगढ़गार्बेज कलेक्टर की हड़ताल जारी रजिस्टर्ड गार्बेज कलेक्टर को नौकरी देने को...

गार्बेज कलेक्टर की हड़ताल जारी रजिस्टर्ड गार्बेज कलेक्टर को नौकरी देने को तैयार है निगम

आई 1  न्यूज़ (अमित सेठी) 18 सितम्बर 2018  चंडीगढ़ में पिछले 9 दिनों से गार्बेज कलेक्टर्स की हड़ताल जारी है । मंगलवार को पुलिस ने कार्रवाई करते हुए करीब 500 आंदोलनकारियों को गिरफ्तार कर लिया। वही आंदोलनकारी अपनी मांगें माने जाने तक हड़ताल को किसी सूरत में खत्म करने के लिए तैयार नहीं है । चंडीगढ़ के मेयर देवेश मोदगिल ने हड़ताल के बारे में पत्रकार वार्ता की, जिसमें उन्होंने कहा कि नियमों के हिसाब से हम सभी काम कर रहे हैं । नगर निगम में 1447 रोडवेज कलेक्टर रजिस्टर्ड हैं । हम उन सभी लोगों को नौकरी देने को तैयार हैं ।लेकिन जो लोग बिना रजिस्ट्रेशन के चंडीगढ़ में गार्बेज कलेक्शन का काम कर रहे हैं। फिलहाल उनके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। इसके अलावा उन्होंने कहा चंडीगढ़ को कचरा मुक्त शहर बनाना हमारी पहली प्राथमिकता है ।  शहर को कचरा मुक्त बनाने के लिए सबसे पहला कदम है गार्बेज की सेग्रीगेशन करना। ताकि गार्बेज को अच्छे तरीके से प्रोसेस किया जा सके इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट भी आदेश जारी कर चुका है वही । चंडीगढ़ के पार्षदों ने भी कई शहरों मैं जाकर स्टडी टूर किया है जिसके आधार पर यह पूरी योजना तैयार की गई है। शहर की सफाई को लेकर किसी प्रकार का कोई समझौता नहीं किया जाएगा , साथ ही साथ सफाई करने वाले कर्मचारियों के साथ भी कोई भेदभाव नहीं किया जाएगा ।‌जितने भी कर्मचारी नगर निगम में रजिस्टर्ड है हम उनको तुरंत नौकरी देने के लिए तैयार हैं। वही नगर निगम के इस फैसले का विरोध करने वाले निगम के BJP पार्षदों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि उन्होंने इसकी शिकायत पार्टी हाईकमान को कर दी है और उनके ऊपर पार्टी हाईकमान स्वयं कार्रवाई करेगा।

गौरतलब है नगर निगम ने बैठक कर यह फैसला किया है कि चंडीगढ़ में कचरा इकट्ठा करने के सिस्टम को और बेहतर बनाया जाए। जिसके तहत कचरा इकट्ठा करने के पुराने तरीके को बदल कर नए तरीके से शुरू किया जाए। इसके तहत शहर में गार्बेज कलेक्शन की गाड़ियां चलाई जाए ।वहीं  पहले से कचरा इकट्ठा करने वाले लोग इस बात का विरोध कर रहे हैं । उनका कहना है कि अगर नगर निगम इन गाड़ियों को चलाएगा तो उनका रोजगार छिन जाएगा । जिससे उनके सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो जाएगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments