Friday, December 2, 2022
to day news in chandigarh
Homeपंजाबकैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा करणबीर को भेंट किया एक लाख...

कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा करणबीर को भेंट किया एक लाख का इनाम

आई 1 न्यूज़  ( ब्यूरो रिपोर्ट ) अमृतसर, 31 जनवरी :- कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा करणबीर को भेंट किया एक लाख का इनाम गाँव मुहावा के दो पुलों की मुरम्मत के लिए 10 लाख रुपए देने का ऐलान अटारी के समीप गाँव मुहावा स्थित 20 सितम्बर 2016 को डिफेंस ड्रेन में स्कूल वैन गिरने से बच्चों की जान बचाने वाले लडक़े करनबीर सिंह (17) की बहादुरी की प्रंशसा करते हुये आज गाँव गल्लूवाल में पहुँच कर कैबिनेट मंत्री श्री नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी तरफ से इनाम के तौर पर एक लाख रुपए का चैक भेंट किया और पुलों की मुरम्मत के लिए 10 लाख रुपए देने का ऐलान किया।

 कैबिनेट मंत्री श्री सिद्धू गाँव मुहावा स्थित 20 सितम्बर 2016 को घटे दुर्घटनाग्रस्त पुल का दौरा किया और इस हादसे दौरान स्कूली बच्चों की जानें बचाने वाले लडक़े करणबीर सिंह को मिलने के लिए उनके घर गाँव गल्लूवाल गए। उन्होंने करनबीर और उसके परिवार को मिल कर शुभकामनाएं दी।

श्री सिद्धू ने कहा कि लडक़ा करनबीर सिंह एक रोल माडल है जो दूसरे को भी प्रेरित करेगा। उन्होंने कहा कि बच्चे ने हौंसला दिखा कर साथी बच्चों की कीमती जानें बचाई और राष्ट्रीय बहादुरी पुरुस्कार प्राप्त करके पंजाब का मान बढ़ाया। उन्होंने कहा कि इस छोटे हीरो को मिलने का सम्मान प्राप्त हुआ है। जिस बहादुर हीरो ने बच्चों की जान बचाई उसको मिलने की इच्छा थी, जो मिल कर पूरी हुई है। गाँव मुहावा के लोगों ने श्री सिद्धू को बताया कि गाँव मुहावा के बाहर की तरफ एक अन्य पुल है जो बुरी हालत में है तो श्री सिद्धू ने मौके पर ही दूसरे पुल की मुरम्मत के लिए पांच लाख रुपए देने का ऐलान किया।

          कैबिनेट मंत्री सिद्धू के घर आने पर खुश हुए करणबीर सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय बहादुरी पुरुस्कार हासिल करना उसके लिए बड़े गौरव वाली बात है। उसने कहा कि मैंने कभी सोचा भी नहीं था छोटी सी उम्र में इतना मान मिलेगा। इस मौके पर उसने और उसके घर वालों ने कैबिनेट मंत्री का धन्यवाद किया।

 डिफेंस ड्रेन के पुल से एमकेडी डीएवी पब्लिक स्कूल नेशटा के बच्चों के साथ भरी स्कूल वैन पुल से नीचे पानी में गिर जाने कारण 7 बच्चों की मौत हुई थी जब कि स्कूल वैन में 35 बच्चे सवार थे। इस मौके पर करणबीर सिंह पुत्र दविन्दर सिंह निवासी गाँव गल्लूवाल ग्यारहवी कक्षा का विद्यार्थी था। विद्यार्थी करणबीर सिंह ने अपनी जान की परवाह न करते हुयेे पानी में डूब रहे छोटे बच्चों की जान बचायी थी। इस समय करनबीर सिंह बारहवीं कक्षा में पढ़ा है। इस बहादुरी दिखाने वाले करणबीर सिंह को गणतंत्र दिवस मौके राष्ट्रीय बहादुरी पुरुस्कार मिल चुका है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments