Wednesday, February 8, 2023
to day news in chandigarh
HomeLatest Newsकुलतार सिंह संधवां द्वारा पारदर्शिता और जवाबदेही के लिए विधान सभा कमेटियों...

कुलतार सिंह संधवां द्वारा पारदर्शिता और जवाबदेही के लिए विधान सभा कमेटियों को और ज्यादा असरदार और सक्रिय बनाने पर ज़ोर। |

आई 1 न्यूज़ चंडीगढ़ 29 नवंबर 2022 ( अमित सेठी ) कुलतार सिंह संधवां द्वारा पारदर्शिता और जवाबदेही के लिए विधान सभा कमेटियों को और ज्यादा असरदार और सक्रिय बनाने पर ज़ोर ऑडिट सप्ताह के दौरान विधान सभा समितियों के सदस्यों और उच्च अधिकारियों द्वारा रखे गए अहम विचार पंजाब विधान सभा के स्पीकर स. कुलतार सिंह संधवां ने लोगों के पैसे के सही प्रयोग को सुनिश्चित बनाने के लिए पारदर्शिता और जवाबदेही की और ज्यादा ज़रूरत पर ज़ोर देते हुए इसके लिए विधान सभा समितियों को और ज्यादा असरदार और सक्रिय बनाने पर बल दिया।आज यहाँ ए.जी. पंजाब के दफ़्तर में ऑडिट सप्ताह के सम्बन्ध में विधान सभा की अलग-अलग समितियों के प्रतिनिधियों और अधिकारियों को संबोधित करते हुए स. संधवां ने कहा कि सरकारी ख़र्च के उचित प्रयोग को सुनिश्चित बनाने के लिए विधान सभा समितियाँ और कैग की भूमिका को बहुत ज़्यादा अहम बताया है। उन्होंने अलग-अलग विभागों द्वारा ऑडिट के पैरों को निर्धारित समय में निपटाने की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुए ऐसे पैरों के निपटारे के लिए विभागों के प्रमुखों की हाजिऱी सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए, जिससे बिना किसी देरी के ऑडिट के पैरों का निपटारा किया जा सके। उन्होंने कहा कि लोगों के भरोसे पर खरा उतरने के लिए ऑडिट की प्रक्रिया में सुधार ज़रूरी हैं। इस दौरान ऑडिट प्रणाली को बेहतर बनाने के लिए विधान सभा की अलग-अलग समितियों के मैंबर विधायकों ने अपने विचार पेश किये। शुरुआत में श्रीमति नाज़ली जे. शायिन, अकाउँटैंट जनरल (ऑडिट), पंजाब ने विधान सभा के स्पीकर और पंजाब की विधान सभा समितियों के सदस्यों का ऑडिट दिवस के मौके पर स्वागत किया। उन्होंने बताया कि भारत के संविधान द्वारा जवाबदेही, पारदर्शिता और अच्छे शासन को प्रोत्साहित करने के लिए मार्गदर्शन दिया गया है। उसने ऑडिट टीमों द्वारा किए जा रहे ऑडिट के महत्व संबंधी बताया, जिससे सम्बन्धित दफ्तरों को कम से कम नियमों से अवगत करवाया जा सके। उन्होंने कहा कि कैग और वैधानिक समितियाँ सार्वजनिक खर्चों और जवाबदेही तय करने के लिए साझे तौर पर जि़म्मेदार हैं।
मीटिंग में विधान सभा के डिप्टी स्पीकर स. जय कृष्ण सिंह, इन्दरजीत कौर मान मैंबर (पी.आर.आईज समिति), बुद्ध राम, चेयरमैन, सी.ओ.पी.यू., डॉ. बलबीर सिंह, मैंबर (स्थानीय निकायों संबंधी समिति), मनविन्दर सिंह गियासपुरा, मैंबर (सीओपीयू), गुरलाल घन्नौर, मैंबर (सी.ओ.पी.यू), सन्दीप जाखड़, डॉ. नछत्तर पाल मैंबर (सीओपीयू), सुखविन्दर सिंह माईसरखाना मैंबर (पी.ए.सी.), सुखविन्दर सिंह कोटली मैंबर (पी.ए.सी.), जगरूप सिंह गिल, चेयरमैन (कमेटी ऑन लोकल बॉडिज), गुरदित्त सिंह सेखों, मैंबर ( सी.ओ.पी.यू.), गुरमीत सिंह खुड्डियां, चेयरमैन ( कमेटी ऑन पी.आर.आई.), जगसीर सिंह, मैंबर (पी.आर.आईज समिति), ए.डी.सी. जसविन्दर सिंह रामदास, मैंबर (पी.आर.आईज समिति), दलजीत सिंह गरेवाल, सुरिन्दर पाल, सचिव ( पंजाब विधान सभा), अमरजीत कौर, ईश्वर दत्त शर्मा, ऋतु सहगल ( सभी अंडर सैक्रेट्री), गुरकीरत सिंह, डिबेटस के संपादक, नाज़ली जे. शायिन, जनरल लेखाकार, रणदीप कौर औजला, सीनियर डीएजी, हर्षित टोड़ी, डीएजी, अंकुश कुमार, डीएजी, मनमोहन थापर, डीएजी और जगदीश कुमार, सीनियर ऑडिट अफ़सर भी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments