Thursday, August 11, 2022
to day news in chandigarh
Homeहरियाणाकांग्रेस को पंजाबी समुदाय से नफरत क्यों रंजीता मेहता।

कांग्रेस को पंजाबी समुदाय से नफरत क्यों रंजीता मेहता।

ऑय 1 न्यूज़ 30 अप्रैल 2022 (अमित सेठी) काग्रेस को पंजाबी समुदाय से नफरत क्यों रंजीता मेहता  हरियाणा भाजपा प्रदेश प्रवक्ता रंजीता मेहता ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा है कि कांग्रेस को पंजाबी समुदाय से नफरत क्यों है? कांग्रेसी पंजाबी समुदाय के किसी नेता को कोई अहमियत क्यों नहीं देती? कांग्रेस में जब फेरबदल किया गया है, तो एक भी पंजाबी नेता को जगह नहीं दी गई । रंजीता मेहता ने कहा कि पिछले कई वर्षों से कांग्रेस में पंजाबी नेताओं की अनदेखी की जा रही है। वहीं भाजपा द्वारा पंजाबी समुदाय को पूरा मान सम्मान दिया जा रहा है। भाजपा ने प्रदेश को पंजाबी मुख्यमंत्री दिया। इसके अलावा कई महत्वपूर्ण पदों पर पंजाबी समुदाय के प्रतिनिधि लोगों की सेवा कर रहे हैं। रंजीता मेहता ने कहा कि हरियाणा में वोट बैंक के प्रतिशत हिसाब से जाट और एससी वोटरों के बाद तीसरे नंबर पर पंजाबी समुदाय आता है, लेकिन उसके बावजूद कांग्रेस में इस समुदाय के लिए कोई जगह नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में पंजाबी नेताओं की दुर्गति पिछले कई वर्षों से हो रही है। पंजाबी नेताओं को खुड्डेलाइन लगा रखा है। पंजाबी विधायक देने वाली सीटों पर भी कांग्रेस की ओर से गैर पंजाबियों को आगे कर दिया जाता है। सिरसा फतेहाबाद, हांसी गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, पानीपत, पंचकूला, अंबाला कैंट, नारायणगढ़ जैसे क्षेत्रों में जहां पंजाबी बहुल हैं, वहां पर भी पंजाबियों की अनदेखी की गई। रंजीता मेहता ने कहा कि जब पंजाबी वोटरों ने कांग्रेस को ठुकरा दिया, तो उसके बाद कांग्रेस सत्ता से बाहर हो गई। लेकिन उससे भी कांग्रेस ने अब सबक नहीं लिया है और पंजाबियों की अनदेखी की जा रही है। रंजीता मेहता ने कहा कि कांग्रेस नेताओं की अक्ल पर पत्थर पड़ गया है, जिस कारण उन्होंने कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्षों की सूची में एक ही पंजाबी को शामिल करना उचित नहीं समझा । सत्ता के सिंहासन पर बिठाने वाले पंजाबी समुदाय से कांग्रेस ने आंखें फेर ली हैं, जिसका खामियाजा कांग्रेस को भुगतना पड़ेगा। रंजीता मेहता ने कहा कि जो भी पंजाबी समुदाय के प्रतिनिधि भाजपा में शामिल होना चाहते हैं, उनका पार्टी में स्वागत है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments