15 किलो गांजा मामले में नया मोड़ सीसीटीवी कैमरे से हुआ खुलासा ।

0
313
http://eye1newschannel.com
आई 1 न्यूज़ 28 अगस्त 2019 (अमित सेठी ) चंडीगढ़ पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाले चिन्ह 15 किलो गांजा मामले में नया मोड़ सीसीटीवी कैमरे से हुआ खुलासा मोहाली के 11 फेस के रहने वाले रामानंद उर्फ गुड्डू  मामले में उनके पिता राजपाल ने खुलासा किया की मेरा बेटा रामानंद उर्फ गुड्डू 21-8-2019 को सुबह 11:00 बजे अपनी गाड़ी टोयोटा इनोवा सर्विस कराने के लिए मोहाली 1 फेस गया हुआ था करीब 1:00 बजे के आसपास मोहाली एक फेस से निकला और रास्ते में उसने 11 फेस से फ्रूट लिए और अपने घर की ओर चल पड़ा फेस 11 रेलवे ट्रेन पुल के पास उसकी गाड़ी को रोका गया जिसमें चंडीगढ़ पुलिस के मुलाजिम से द्वारा उसे बंदूक की नोक पर वहां से ले जाया गया यह मंजर वहां खड़े लोगों ने देखा और सीसीटीवी कैमरा में कैद हो गया । पिता राजपाल ने बताया कि पिछले लंबे समय से उनके घर के पास रहने वाले कुछ लोग हैं जो उसके बेटे को फंसाने की कोशिश कर रहे हैं और यह सब कुछ पुलिस के साथ मिलकर उन लोगों ने इस सारे मामले को अंजाम दिया है पिता राजपाल ने बताया कि कुछ महीने पहले इन लोगों को पुलिस ने नशे की तस्करी के मामले में गिरफ्तार किया था और वह लोग उस पूरे मामले को लेकर मुझे और मेरे परिवार को दोषी मान रहे हैं जिसकी वजह से इस पूरे मामले को अंजाम दिया गया और पुलिस के साथ मिलकर मेरे बेटे को 15 किलो गांजा और बंदूक के मामले में फंसाया गया है
और पिता राजपाल ने बताया कि जब हम लोग थाना पहुंचे तो थाना प्रभारी राजदीप ने मेरे साथ दुर्व्यवहार किया और कहा कि अगर तुम अपनी गाड़ी लेकर जाना चाहते हो तो ₹5 लाख रुपए मुझे दो तब तुम्हारी गाड़ी को छोडूंगा ।
पिता राजपाल के अनुसार उसके बेटे रामानंद उर्फ गुड्डू गलत फसाया गया है पिता राजपाल ने इस पूरे मामले की खुद इन्वेस्टिगेशन की जिसमें उसके हाथ सीसीटीवी फुटेज लगी है और लोग भी मिले हैं जिनके सामने उसके बेटे को मोहाली 11 फेज से उठाया गया पिता राजपाल ने बताया कि पुलिस ने गिरफ्तारी चंडीगढ़ सेक्टर 31 से रात 11:30 पर दिखाई है पर जो मंजर सीसीटीवी कैमरा में दिख रहा है वह दोपहर का है । और चंडीगढ़ पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल भी उठाए कि क्या बेगुनाहों को चंडीगढ़ पुलिस कुछ पैसों के लिए ऐसे ही झूठे केस दर्ज करके फसाती है क्या । पिता राजपाल इस पूरे मामले को लेकर चंडीगढ़ पुलिस के आला अधिकारियों के दर्पण दर-दर भटक रहे हैं पर उसके बावजूद भी उन्हें निराशा ही मिली इसके बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस करने का फैसला लिया और इस पूरे मामले का खुलासा करने की ठानी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here