पंचायतों का काम-काज सुचारू ढंग से चलाने के लिए नये चुने पंचों-सरपंचों को जागरूक किया जायेगा-तृप्त बाजवा

0
881

आई 1 न्यूज़ (अभिषेक धीमान) चंडीगढ़, 9 फरवरी:पंचायतों का काम सुचारू ढंग से चलाने के लिए पंजाब सरकार के ग्रामीण विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा नये चुने गए पंचों-सरपंचों को जागरूक करने के लिए विशेष प्रशिक्षण प्रोग्राम बनाया गया है। ग्रामीण विकास मंत्री स. तृप्त राजिन्दर सिंह बाजवा ने इस प्रोग्राम संबंधी जानकारी देते हुए बताया कि यह प्रोग्राम इस ढंग से बनाया गया है कि पंचों सरपंचों को पंचायत का रिकार्ड रखने, सरकारी स्कीमों का अधिकतम लाभ उठाने और गाँवों का योजनाबद्ध विकास करने संबंधी प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने विभाग को कहा है कि इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में पंचों और सरपंचों की 100 प्रतिशत हाजिऱी यकीनी बनाई जाये । इसके साथ यह भी यकीनी बनाने के लिए हिदायतें जारी की हैं कि चुनी गई महिलाएं स्वयं इस प्रशिक्षण प्रोग्राम में हिस्सा लें। पंचायत मंत्री ने प्रशिक्षण प्रोग्राम संबंधी और जानकारी देते हुए बताया कि हर ब्लॉक में दो दिवसीय प्रशिक्षण कैंप लगाया जायेगा जिसमें ब्लॉक के सभी पंच -सरपंच हिस्सा लेंगे। उन्होंने बताया कि मोगा, फिऱोज़पुर और रोपड़ जिलों का प्रशिक्षण 11 फरवरी से शुरू होगा और बाकी 19 जिलों का प्रशिक्षण 15 फरवरी से शुरू किया जायेगा। प्रशिक्षण प्रोग्राम के दौरान दिये जाने वाले प्रशिक्षण का विवरण देते हुए पंचायत मंत्री ने बताया कि पंचों -सरपंचों को प्रशिक्षण देने वाले व्यक्तियों को पहले प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस प्रशिक्षण प्रोग्राम के दौरान पंचायतों को उनकी शक्तियों और जिम्मेवारियों संबंधी जानकारी देने के साथ साथ पंचायती राज एक्ट, विलेज कॉमन लैंड एक्ट, शामलात ज़मीनें के संरक्षण संबंधी जानकारी दी जायेगी। इसके अलावा ग्राम सभा की बनावट, कार्यकाल, प्रस्ताव, मीटिंगों, एस्टीमेट, मैटीरियल की खरीद, फंडों के प्रयोग, वित्तीय लेखों का रख-रखाव, रिकार्ड और रजिस्टरों की संभाल, पंचायत सचिव का रोल, सूचना का अधिकार एक्ट -2005 संबंधी जानकारी दी जायेगी। इस प्रशिक्षण प्रोग्राम के दौरान सरकारी स्कीमों के विकास कामों के लिए केंद्र सरकार और पंजाब सरकार द्वारा चलाई जा रही स्कीमों के बारे जानकारी दी जायेगी और साथ ही यह भी बताया जायेगा कि इन स्कीमों से किस तरह लाभ लेना है संबंधी भी विस्तार से जानकारी दी जायेगी। पंचायतों को इस संबंधी भी जागरूक किया जायेगा कि शिक्षा के सुधार में पंचायतें किस तरह योगदान डाल सकती हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here