SC के फैसले पर ममता बनर्जी ने कहा- ये हमारी नैतिक जीत, 2019 में मोदी नहीं आएंगे

0
375

ऑय 1 न्यूज़ 5 फरवरी 2019..सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार CBI जांच में सहयोग करें. पूछताछ के लिए हाज़िर हों. शिलांग में राजीव कुमार से पूछताछ की जाएगी. सीबीआई की अवमानना याचिका पर मुख्य सचिव, DGP और राजीव कुमार को नोटिस भेजा गया है. 20 फरवरी को अगली सुनवाई होगी. जवाब देख कर तय होगा कि उन्हें व्यक्तिगत रूप से बुलाना है या नहीं.

सीबीआई के साथ विवाद पर ममता सरकार को भले ही सुप्रीम कोर्ट से झटका लगा हो लेकिन ममता बनर्जी इसे नैतिक जीत बता रही हैं. फैसले के बाद मीडिया से बात करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि कोई ये ना समझे कि वो देश का बॉस है, यहां लोकतंत्र है. ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर काम ना करने का देने का आरोप भी लगाया, उन्होंने कहा कि 2019 में मोदी नहीं आएंगे.

फैसले पर क्या बोलीं ममता बनर्जी?
फैसले के बाद ममता बनर्जी ने कहा, ”यह एक नैतिक जीत है, हम सभी संस्थाओं का सम्मान करते हैं. यह आदेश सीबीआई के लिए भी है कि वो एक आपसी सहमति से पूछताछ कर सकते हैं. राजीव कुमार ने कभी नहीं कहा कि पूछताछ के लिए नहीं आएंगे. लेकिन सीबीआई अचानक से संडे को ऑपरेशन चलाकर उन्हें गिरफ्तार करने आई, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया. हम इसके लिए सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद देते हैं. इससे अधिकारियों का मनोबल बढ़ेगा.”

2019 में मोदी नहीं आएंगे, ये देश की जीत है: ममता बनर्जी
2019 को लेकर पूछे गए एबीपी न्यूज़ के सवाल पर ममता बनर्जी ने कहा कि 2019 मनें मोदी नहीं आएंगे. उन्होंने कहा, ”यह देश की जनता, संविधान और हमारे भारत बचाओ आंदोलन, मीडिया, सुरक्षाबलों को मिली है. आज सबको कंट्रोल करके रखा गया है. आज कोई भी कुछ बोलता है तो उससे कहा जाता है कि मत बोले. दो-तीन मंत्रियों ने मुझसे भी फोन करके कहा कि मोदी के खिलाफ ना बोले. मैंने कहा कि तुम कौन हो ? मुझे जो बोलना है मैं बोलूंगी, ये मेरा अधिकार है.”

सीएम ने कहा, ”2019 में मोदी जी नहीं आएंगे, मोदी सरकार हमें राज्य में काम नहीं करने दे रहे हैं. हमारे काम में हतक्षेप किया जा रहा है. हमें पैसा नहीं दिया जा रहा है, हमारे अधिकारियों, मीडिया, किसानों, युवाओं को परेशान किया जा रहा है. मैंने बहुत दिन तक बर्दास्त किया, लेकिन किसी को तो बोलना पड़ेगा, इसीलिए मैंने बोला. मेरा दिल रो रहा था.”

क्या है सुप्रीम कोर्ट का फैसला?
सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार CBI जांच में सहयोग करें. पूछताछ के लिए हाज़िर हों. शिलांग में राजीव कुमार से पूछताछ की जाएगी. सीबीआई की अवमानना याचिका पर मुख्य सचिव, DGP और राजीव कुमार को नोटिस भेजा गया है. 20 फरवरी को अगली सुनवाई होगी. जवाब देख कर तय होगा कि उन्हें व्यक्तिगत रूप से बुलाना है या नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here