मोदी सरकार का ऐतिहासिक कदम, लद्दाख में खुलेगी पहली यूनिवर्सिटी

0
276

ऑय 1 न्यूज़ फरवरी 2019 (रिंकी कचारी) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लद्दाख क्षेत्र में पहले विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी. इस दौरान मोदी ने कहा कि लद्दाख में 40 फीसदी युवा हैं और उनकी लंबे समय से यहां यूनिवर्सिटी की मांग थी, जो आज पूरी हो गई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में पहले विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी. लद्दाख में ‘यूनिवर्सिटी ऑफ लद्दाख’ की आधारशिला रखी, जो कि क्षेत्र की पहली यूनिवर्सिटी होगी. अगर जम्मू-कश्मीर की बात करें तो जम्मू क्षेत्र में एक IIT और एक IIMC के अलावा कुल चार विश्वविद्यालय हैं, वहीं कश्मीर घाटी में तीन विश्वविद्यालय और एक राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) है.

इस दौरान मोदी ने कहा कि लद्दाख के पास अब पहला क्लस्टर विश्वविद्यालय है, जिससे लेह, करगिल, नुब्रा, जंस्कर, द्रास और खलतसी के डिग्री कॉलेज संबद्ध हैं. उन्होंने कहा कि लेह और करगिल में विश्वविद्यालय के प्रशासनिक कार्यालय होंगे. बता दें कि जम्मू कश्मीर प्रशासन ने पिछले साल 15 दिसंबर को लद्दाख क्षेत्र में पहले विश्वविद्यालय की स्थापना को मंजूरी दी थी.

मोदी ने कहा, ‘लद्दाख में 40 फीसदी युवा हैं और उनकी लंबे समय से यहां यूनिवर्सिटी की मांग थी, जो आज पूरी हो गई है. इसके लिए मैं युवाओं को बधाई देता हूं. मोदी ने बताया कि इस यूनिवर्सिटी से नूबरा, लेह, जंसकार, और कारगिल में चल रहे डिग्री कालेजों के संसाधनों का उपयोग किया जाएगा.

मोदी ने अपने कश्मीर दौरे में कई घोषणाएं की है. इस दौरान मोदी ने कहा कि आज जिन परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है, उनसे यहां बिजली मिलने के साथ लेह-लद्दाख की देश और दुनिया के दूसरे शहरों से कनेक्टिविटी सुधरेगी, पर्यटन बढ़ेगा, रोजगार के अवसर बढ़ेंगे. साथ ही मोदी ने यह भी कहा कि अब अपनी जरूरतों के लिए बार-बार श्रीनगर और जम्मू नहीं जाना होगा, बल्कि ज्यादातर काम यहीं लेह और लद्दाख में ही पूरे हो जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here