राजनीतिक तूफान: कोर्ट में CBI, सड़क पर ममता बनर्जी और संसद में TMC के हंगामे के बीच सरकार की सफाई

0
277

ऑय 1 न्यूज़ 4 फरवरी 2019 (रिंकी कचारी) ममता बनर्जी बनाम सीबीआई की लड़ाई पर बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कोलकाता में कहा कि कल कोलकाता में लोकतंत्र की हत्या हुई. जब टीएमसी के बड़े बड़े नेता जेल गए तब ममता बनर्जी ने धरना नहीं दिया.

नई दिल्ली/कोलकाता: कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआई की कार्रवाई की कोशिश को लेकर सड़क से लेकर संसद तक राजनीतिक हंगामा जारी है. मामला कोर्ट में भी पहुंच चुका है. 20 से अधिक राजनीतिक पार्टियों ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का समर्थन किया है. सभी का कहना है कि सीबीआई ने केंद्र की मोदी सरकार के इशारे पर शारदा चिटफंड मामले को चुनावी फायदे के लिए उठाया है. सीबीआई का कहना है कि राजीव कुमार से शारदा चिटफंड मामले में पूछताछ के लिए गई थी क्योंकि वह सबूतों से छेड़छाड़ कर रहे हैं. सत्ताधारी दल बीजेपी इसे भ्रष्टाचार को छुपाने का आरोप लगा रही है. 10 प्वाइंट्स में जानें अब तक के अपडेट्स-

1. ममता बनर्जी पिछले करीब 12 घंटे से कोलकाता के धर्मतल्ला इलाके में धरने पर बैठी हैं. यहां उनके समर्थन में समाजवादी पार्टी के नेता किरणमय नंदा भी मौजूद हैं. आज शाम तक आप संयोजक अरविंद केजरीवाल और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव भी धरना स्थल पर पहुंच सकते हैं. ध्यान रहे कि साल 2006 में सिंगूर में टाटा का कारखाना लगाने के खिलाफ उन्होंने इसी जगह पर 26 दिनों तक भूख हड़ताल की थी.

2. पश्चिम बंगाल में सीबीआई की कार्रवाई के विरोध में राज्यसभा में तृणमूल कांग्रेस सदस्यों के हंगामे के कारण राज्य सभा की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक के लिये स्थगित कर दी गई है. आम आदमी पार्टी (आप) ने सीबीआई को राजनीतिक हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए राज्य सभा में चर्चा के लिए नोटिस दिया है.

3. लोकसभा में सोमवार को तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों के भारी हंगामे के कारण कार्यवाही शुरू होने के करीब 15 मिनट बाद दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. जिसके बाद फिर कार्रवाई शुरू हुई.

CBI Vs ममता: सीबीआई की टीम को हिरासत में लेने से सीएम के धरने तक, जानें सबकुछ

4. लोकसभा अध्यक्ष ने टीएमसी सांसदों को बोलने का मौका दिया. हंगामा होता रहा. जिसके बाद गृहमंत्री ने भी बयान दिया. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में विपक्षी दलों के हंगामे के बीच कहा, ”कोलकाता में जो हुआ वो अभूतपूर्व है. तीन फरवरी को सीबीआई की टीम पूछताछ के लिए कोलकाता गई थी. अचानक टीम नहीं गई थी. बल्कि, पुलिस अधिकारी द्वारा जांच में सहयोग न मिलने के कारण सीबीआई टीम वहां गई थी. सीबीआई के साथ टकराव दुर्भाग्यपूर्ण है और संवैधानिक संकट खड़ा करता है.”

5. सीबीआई और ममता बनर्जी के बीच जारी तनातनी को लेकर केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से हालात का जायजा लेने को कहा है. एक अधिकारी ने कहा कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय कोलकाता में हालात पर करीब से नजर रखे हुए है.

6. सुप्रीम कोर्ट ने कोलकाता पुलिस आयुक्त पर शारदा चिटफंड घोटाला मामले से जुड़े इलेक्ट्रॉनिक सबूत नष्ट करने का आरोप लगाने वाली सीबीआई की याचिका पर कहा कि वह कल सुनवाई करेगा.

7. ममता सीबीआई की कार्रवाई को ‘संवैधानिक नियमों पर हमला’ करार देते हुए रविवार रात करीब 8.30 बजे से धरने पर बैठी हुई हैं. सोमवार सुबह वह धरना स्थल पर तृणमूल कांग्रेस के नेताओं के साथ बात करती दिखीं. धरने के चलते मेट्रो सिनेमा के आसपास कुछ जगहों पर वाहनों की आवाजाही पर पाबंदी लगाई गई है.

8. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख कह चुकी हैं कि वह सोमवार को विधानसभा में बजट पेश होने के दौरान उपस्थित नहीं रहेंगी. उससे पहले, मंच के पीछे बने एक अस्थाई कमरे में कैबिनेट की बैठक होगी.

9. ममता को करीब 15 दलों ने समर्थन दिया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव समेत कई राष्ट्रीय नेताओं ने रविवार रात ममता बनर्जी से फोन पर बात की.

CBI Vs ममता बनर्जी: सीबीआई की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- कल करेंगे सुनवाई

10. ममता बनर्जी बनाम सीबीआई की लड़ाई पर बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कोलकाता में कहा कि कल कोलकाता में लोकतंत्र की हत्या हुई. जब टीएमसी के बड़े बड़े नेता जेल गए तब ममता बनर्जी ने धरना नहीं दिया. पुलिस कमिश्नर के पास ऐसा क्या है जिसे छुपाने के लिए ममता बनर्जी सड़क पर बैठी हैं? ममता बनर्जी राजदार को बचाने के लिए धरने पर बैठी हैं. वो मोदी सरकार पर तानाशाही का आरोप लगाती हैं लेकिन वो खुद तानाशाह हैं.

11. सीबीआई ने देर रात चिटफंड घोटालों के सिलसिले में कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से पूछताछ की कोशिश की. जिसके बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के बीच जबर्दस्त टकराव की स्थिति पैदा हो गई.

12. यह सारा घटनाक्रम बहुत तेजी से उस वक्त शुरू हुआ, जब सीबीआई के 40 अधिकारियों की एक टीम आज शाम मध्य कोलकाता में कुमार के लाउडन स्ट्रीट स्थित आवास पर पहुंची, लेकिन वहां तैनात संतरियों और कर्मियों ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया.

13. कुछ ही देर बाद कोलकाता पुलिस के अधिकारियों की एक टीम सीबीआई अधिकारियों से बातचीत के लिए मौके पर पहुंची और यह पता लगाने की कोशिश की कि क्या उनके पास कुमार से पूछताछ करने के लिए जरूरी दस्तावेज थे. जिसके बाद पुलिस ने सीबीआई की टीम को हिरासत में ले लिया.

14. जैसे को तैसा वाली कार्रवाई करते हुए कोलकाता के पुलिस अधिकारियों की एक टीम सीजीओ कॉम्प्लेक्स (सीबीआई का राज्य मुख्यालय) पहुंच गई. बाद में शाम के समय केंद्रीय अर्धसैनिक बल कोलकाता स्थित सीबीआई कार्यालय पहुंच गए. इसके बाद कोलकाता पुलिस के जवानों ने परिसर को खाली कर दिया. उधर ममता बनर्जी धरने पर बैठ गईं.

15. आगामी लोकसभा चुनावों से पहले बीजेपी विरोधी गठबंधन बनाने के प्रयासों में अग्रणी भूमिका निभा रहीं ममता ने दावा किया कि सीबीआई ने बगैर तलाशी वॉरंट के ही कोलकाता के पुलिस आयुक्त कुमार के दरवाजे पर दस्तक दी. ममता ने आरोप लगाया कि वे हर उस राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाना चाहते हैं, जहां विपक्षी पार्टियां सत्ता में हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here