सोलन अस्पताल में स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए बनाया इन्सोलेशन वार्ड।

0
320

आई 1 न्यूज़ (अभिषेक धीमान) चंडीगढ़:सर्दियों के मौसम में हर वर्ष स्वाइन फ्लू का खतरा प्रदेश में बढ़ता है, लेकिन अभी तक जिला अस्पताल सोलन में इसकी जांच की व्यवस्था नहीं हुई है। सोलन में स्वाइन फ्लू से प्रभावित लोगों को जांच के लिए या तो सीआरआइ कसौली या आइजीएमसी शिमला के लिए जाना पड़ता है। शिमला में जांच के दौरान सोलन के दो लोगों में स्वाइन फ्लू पॉजिटिव पाया गया है, जिससे स्वास्थ्य विभाग अलर्ट पर आ गया है, लेकिन इसकी जांच की कोई सही व्यवस्था विभाग के पास नहीं है। प्रभावित के सैंपल लेकर उन्हें शिमला आइजीएमसी जाता है और उसके बाद ही इस बीमारी का पता लगता है। चिकित्सा अधिकारी सोलन डॉ. महेश गुप्ता ने बतया कि सोलन में स्वाइन फ्लू की दवा समुचित मात्रा में उपलब्ध है। आह्वाहन किया की इससे भयभीत न हों और अपने समीप के स्वास्थ्य केंद्र में आवश्यकता पड़ने पर तुरंत परामर्श लें, ताकि संभावित रोगी को उपचार देकर ठीक किया जा सके। उन्होंने बताया की स्वाइन फ्लू विशेष प्रकार के एच1 एन1 वायरस से फैलता है। यह बीमारी इस वायरस से ग्रसित व्यक्ति के संपर्क में आने पर भी हो सकती है। लोगों से आग्रह किया है कि वे बुखार, खांसी, सिरदर्द जैसे लक्षण दिखने पर समीप के स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक से अवश्य परामर्श लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here