दुनिया के लिए भारत मेंनिर्मित, 2019 में भारतमें लॉन्च होने वाली पहली ‘Kia SP2i’

0
513

ऑय 1 न्यूज़ 28 दिसम्बर 2018 (रिंकी कचारी) ‘Kia SP2i’ भारत में 2019 की दूसरी या तीसरे महीने में लॉन्च होगा:यह पॉवर-पैक्ड प्रदर्र्शन और विश्वस्तरीय क्वालिटी से सुसज्जित होगा
किया 2021 तक कम से कम 5वाहनों तक अपने पोर्टफोलियो काविस्तार करने की योजना बना रहाहै, हर छ: से नौ महीने में कार लॉन्चकरेगा
300,000 से अधिक वाहनों काउत्पादन करने की वार्शिक इंस्टाल्डक्षमता के साथ अनंतपुर प्लांटलगभग तैयार है और क्षेत्र में 3000से अधिक प्रत्यक्ष नौकरियों कानिर्माण कर रहा है।

किया मोटर्स दुनिया का आठवां सबसेबड़ा ऑटोनिर्माता है। इसने आज एकफैसिलिटी टूर के दौरान अनंतपुर में अपने536 एकड़ के विर्शाल संयंत्र का प्रदर्र्शनकिया, जो लगभग पूरा होने वाला है औरकंपनी सितंबर, 2019 तक अपने पहलेउत्पाद एसपी2आई का भारत में लॉन्चकर देगी। यह आगामी कार कंपनी केअनंतपुर संयंत्र में निर्मित होगी, जोविश्वस्तरीय गुणवत्ता, बेहतरीन डिज़ाईनऔर अत्याधुनिक टेक्नॉलॉजी सेसुसज्जित होगा। कंपनी का उद्देश्य तीनसालों में भारत के सर्वोच्च 5ऑटोनिर्माताओं में अपनी जगह बनानाहै।

‘Kia’ मोटर्स ने भारत में प्रवेष ऑटोएक्स्पो 2018 में किया और अपनी 16सर्वोच्च ग्लोबल श्रृंखलाओं का प्रदर्र्शनकिया, जिसमें ऑटो एक्स्पो में सबसेज्यादा पसंद की गई, SP2i भी शामिल थी। भारत एवं भारत के ‘रॉयलबंगाल टाईगर’ के र्शक्तिषाली चेहरे सेप्रेरित इस कार में किया की सबसे मर्शहूर और खास विशेषता – ‘टाईगर नोज़ ग्रिल’है, जो चीफ डिज़ाईन ऑफिसर, श्री पीटरश्रेयर द्वारा डिज़ाईन की गई है। यह कार ‘मेक इन इंडिया’ सेगमेंट में पूरी तरह फिटबैठती है और इसमें वह हर खूबी है, जोभारतीय ग्राहक चाहते हैं। इसमें स्पोर्टीऔर स्टाईलिश डिज़ाईन के साथअत्याधुनिक टेक्नॉलॉजी भी है।

‘Kia’ ने भारत में अपने काम लगभगएक साल पहले आंध्रप्रदेश के अनंतपुर मेंअपने संयंत्र के उद्घाटन के साथ प्रारंभकिए। इस संयंत्र का काम पूरे जोरशोर सेचल रहा है। यह संयंत्र लगभग तैयार हैऔर 2019 की दूसरी छमाही में कामकरना प्रारंभ कर देगा। इस संयंत्र में300,000 से अधिक वाहन प्रतिवर्षबनाने की क्षमता है और यह क्षेत्र में3000 से अधिक प्रत्यक्ष और 7000अप्रत्यक्ष नौकरियां निर्मित करेगा। कियाने सर्वश्रेष्ठ स्थानीय विनिर्माण सुनिश्चितकरने के लिए संयंत्र में लगभग 1.1बिलियन डॉलर का निवेश किया है। यहांपर वैश्विक मापदंडों के अनुरूपटेक्नॉलॉजी प्रदान की जाएगी। यह प्लांटहाईब्रिड एवं इलेक्ट्रिक वाहन भी बनासकेगा। किया को इस बात में बहुत गर्वहै कि इस प्लांट में सबसे उन्नत ग्लोबलटेक्नॉलॉजी, जैसे रोबोटिक्स एवं कृत्रिमयोग्यता है तथा यह संयंत्र के अंदर 100प्रतिशत वाटर रिसाइक्लिंग की क्षमताओंके साथ पर्यावरण के लिए मित्रवत है।इसके अलावा कंपनी ने कौशल विकासके लिए ऑटोमोबाईल्स में बेसिकटेक्निकल कोर्स (बीटीसी) भी शुरू कियाहै, जो संयंत्र में प्रवेश स्तर की नौकरी केलिए आवश्यक कौशल प्रदान करेगा। भारत में कंपनी का प्रवेश कोरिया,स्लोवाकिया, चीन, यूएसए और मैक्सिकोमें कंपनी|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here