शिवसेना का नारा अहले मंदर फर सरकार दुबारा |

0
368

आई 1 न्यूज़ 24 नवम्बर 2018 ( अमित सेठी ) शिवसेना के चलो अयोध्या अभियान के तहत जहां हज़ारों की तादाद में शिवसेना कार्यकर्ता राम नगरी की तरफ कूच कर चुके हैं तो वही 25 नवंबर को शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद के अयोध्या में प्रस्तावित कार्यक्रम के चलते राम नगरी में सुरक्षा बेहद ही कड़ी कर दी गई है। शिवसेना के चलो अयोध्या अभियान के अलावा विश्व हिंदू परिषद धर्म संसद या धर्म सभा आयोजित करने जा रही है। विहिप के नेताओं ने कहा था कि आखिर ये समझ के बाहर है कि जब उनका कार्यक्रम पहले से तय था तो शिवसेना के लोगों ने 25 नवंबर का दिन चलो अयोध्या के लिए क्यों चुना ? अयोध्या के डीएम अनिल कुमार ने कहा कि प्रशासन लगातार स्थानीय लोगों के संपर्क में है। अयोध्या में न तो किसी तरह डर का माहौल है और न ही किसी को डरने की जरूरत है। शिवसेना और वीएचपी दोनों को कार्यक्रम करने की इजाजत दी गई है। उन लोगों ने प्रशासन से स्पष्ट किया है कि उनके कार्यक्रम की वजह से किसी तरह की अव्यवस्था नहीं होगी |

अयोध्या में सुरक्षा है कड़ी

कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए बड़े पैमाने पर सुरक्षा के इंतजाम किए जा रहे हैं। एडीजीपी और डीआईजी स्तर का एक अधिकारी, एसपी स्तर के तीन, एएसपी स्तर के 10, डीएसपी स्तर के 21, इंस्पेक्टर स्तर के 160, 700 कॉन्सेटबल के साथ पीएसी की 42 कंपनियां, आरएएफ की पांच, एटीएस कंमाडो के साथ साथ ड्रोन कैमरों की तैनाती की जा चुकी है। वही इस ख़बर से जुड़ी हर छोटी बड़ी अपडेट के लिए आप आई 1 न्यूज़ के साथ जुड़े रहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here