शिमला में सातवां जनमंच कार्यक्रम आज लाल बहादुर शास्त्री राजकीय महाविद्यालय सरस्वतीनगर के खेल मैदान में आयोजित किया गया।

0
410

आई 1 न्यूज़ 21 शिमला 18 नवम्बर, जिला शिमला में सातवां जनमंच कार्यक्रम आज लाल बहादुर शास्त्री राजकीय महाविद्यालय सरस्वतीनगर के खेल मैदान में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता शहरी विकास, नगर नियोजन एवं आवास मंत्री श्रीमती सरवीण चैधरी ने की। इस अवसर पर चीफ व्हिप व संयोजक जनमंच नरेन्द्र बरागटा विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे। कार्यक्रम से ग्राम पंचायत सरस्वती नगर सावड़ा, सारी, थाना, मांदल, कुड्डू, अंटी, नंदपुर, झाल्टा, रावी, भौलाड़, झगटान, सोलंग, पन्द्राणू, गिल्टाड़ी, बढाल और कठासू के लोग लाभान्वित हुए। इस जनमंच कार्यक्रम में शिकायतों के 143 आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें से 108 का मौके पर ही समाधान किया गया। इसके अतिरिक्त कार्यक्रम में मांगों के भी 97 आवेदन प्राप्त हुए थे। जनमंच कार्यक्रम के अवसर पर आज लोगों ने अपनी शिकायतों और समस्याओं को लेकर 103 आवेदन मौके पर भी प्रस्तुत किये। इस अवसर पर स्वास्थ्य जांच शिविर में 198 लोगों ने स्वास्थ्य जांच करवाई। 80 लोगों केे दांतों की जांच भी की गई। आयुर्वेद स्वास्थ्य जांच शिविर में 155 लोगों ने जांच करवाई। इस मौके पर 48 हिमाचली प्रमाण-पत्र, 35 अनुसूचित जाति-जनजाति प्रमाण-पत्र, 40 आय प्रमाण-पत्र, 54 ऐफेडेविट, 304 आॅर्चर्ड कार्ड, 135 इन्तकाल, 23 चरित्र प्रमाण-पत्र जारी किये गये। इस अवसर पर राहत से संबंधित 22 मामलों का समाधान कर 11 लाख 44 हजार 666 रुपये की राहत राशि जारी की गई। जनमंच कार्यक्रम में लोगों ने भारी तादाद में हिस्सा लिया। शहरी विकास, नगर नियोजन एवं आवास मंत्री श्रीमती सरवीण चैधरी ने सभी अधिकारियों को जनमंच में प्राप्त होने वाली शिकायतों का त्वरित समाधान करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने जन कल्याण के लिए अनेक महत्वकांक्षी योजनाएं कार्यान्वित की हैं, ताकि विकास को एक नई दिशा और गति दी जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना लागू की जा रही है, जिसके माध्यम से चयनित परिवारों को प्रतिवर्ष पांच लाख रुपये तक का निशुल्क ईलाज प्रदान किया जाएगा। यह सुविधा फैमिली फलोटर आधार पर प्रदान की जाएगी, अर्थात एक सदस्य या परिवार के सभी सदस्य योजना का लाभ ले सकते हैं और एक परिवार के लिए एक वर्ष में बीमा की राशि पांच लाख रुपये होगी।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में महिला सशक्तिकरण एवं पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना आरंभ की गई है। योजना के तहत उज्जवला योजना से छूट गये ऐसे सभी हिमाचली परिवारों को शामिल किया गया है, जिनके पास अपना घरेलू गैस कनेक्शन नहीं हैं। इस अवसर पर नरेन्द्र बरागटा ने जनमंच को सफल कार्यक्रम बताते हुए कहा कि इससे प्रदेश में विकास की गति को और अधिक तीव्रता मिली है। जनमंच के निर्णयों को समयबद्ध रूप से कार्यान्वित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनमंच के माध्यम से दूर-दराज क्षेत्र के लोगों की समस्याओं का समाधान उनके घरद्वार के समीप किया जा रहा है, ताकि उन्हें बार-बार सरकारी कार्यालयों में न जाना पड़े। जनमंच के माध्यम से एक उच्च स्तरीय शिकायत निवारण प्रणाली की व्यवस्था की गई है। इसके माध्यम से नागरिक केन्द्रित सेवाएं भी प्रदान की जा रही है।नरेन्द्र बरागटा ने लोगों से नशा निवारण के लिए व्यापक जन जागरूकता अभियान आरम्भ करने का आग्रह किया तथा कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा नशा निवारण की समस्या से निपटने के लिए ठोस कदम उठाए जा रहे हैं।श्रीमती सरवीण चैधरी ने हिमाचल प्रदेश गृहिणी सुविधा योजना के तहत श्रीमती शिला देवी, गुड्डी देवी, कान्ता देवी, दीपना देवी, मुरतू देवी, कमला देवी, संदीपना, राम देवी और प्रामिला को निशुल्क एलपीजी गैस कनेक्शन प्रदान किये।इस अवसर पर श्रीमती सरवीण चैधरी ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के तहत कन्या के जन्म पर माताओं को सम्मानित भी किया। इस योजना के तहत उन्होंने श्रीमती सोनी, गुड्डी, श्रीमती ममता, श्रीमती हेमा, श्रीमती सपना, श्रीमती बिमला, श्रीमती चित्रा, श्रीमती प्रिया और श्रीमती नसीमा को सम्मानित किया। उन्होंने बेटी है अनमोल योजना के तहत बीपीएल परिवार में जन्मी उन बालिकाओं को सम्मानित किया, जिनके नाम से 10 हजार रुपये की एफडी बनाई गई है। इसके तहत उन्हांेने मयारा, अरशिता, मुविका, वंशिका, अवनी, नव्या, चारवी, राशिका, अराध्या, एबरिल, बेबी, मधुलिका और श्रिया को सम्मानित किया। इस अवसर पर विभिन्न विभागों द्वारा प्रदेश सरकार की योजनाओं से संबंधित जानकारी देने के लिए स्टाॅल भी स्थापित किये गये तथा स्वास्थ्य व आयुर्वेद विभाग द्वारा चिकित्सा जांच शिविरांे का आयोजन भी किया गया। इस अवसर पर सामूहिक भोज का आयोजन भी किया गया। इस अवसर पर चीफ व्हिप व संयोजक जनमंच नरेन्द्र बरागटा, उपायुक्त शिमला अमित कश्यप, पुलिस अधीक्षक ओमापति जमवाल, जनमंच पर्यवेक्षक आविद हुसैन, एसडीएम रोहड़ू बीआर शर्मा, डीएसपी अनिल शर्मा, पंचायती राज संस्थाओं के पदाधिकारी, संगठनों के पदाधिकारी व गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here