‘आप’ ने धर्मसोत का इस्तीफा व नाभा नगर कौंसिल घोटाले की सीबीआई से जांच करवाने की मांग की

0
409

ऑय 1 न्यूज़ चैनल

डेस्कटॉप रिपोर्ट अभिषेक धीमान,

नाभा नगर कौंसिल के आधिकारियों और प्रधान द्वारा फंडों के किए घोटाले में आज आम आदमी पार्टी ने कैबिनट मंत्री साधू सिंह धर्मसोत के इस्तीफे की मांग करते सरकार को अगली कार्यवाही के लिए मामला सीबीआई को सौंपने की मांग की। ‘आप’ के चण्डीगढ़ हैडक्वाटर से जारी प्रैस नोट में नाभा विधान सभा के प्रधान गुरदेव सिंह (देव मान) ने कहा कि यह घोटाला मंत्री साधू सिंह धर्मसोत की शह पर किया गया है। उन्होंने कहा कि धर्मसोत नाभा और इस क्षेत्र में भ्रष्टाचारियों को शह दे रहे हैं। कैबिनट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा इस मामले में कार्यवाही करते नाभा नगर कौंसिल के प्रधान रजनीश कुमार शैंटी, ई.ओ सुखदीप सिंह कम्बोज और क्लर्क हरजिन्दर सिंह को बर्खास्त किए जाने पर संतुष्टि प्रकट करते मान ने कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि सिद्धू इसी तरह कार्यवाही करते इस मामले के साथ सम्बन्धित बाकी दोषियों के खिलाफ एक्शन लेंगे। मान ने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह राज्य में भ्रष्टाचार प्रति जीरो टोलरैंस की बड़ी -बड़ी बातें करते हैं, परंतु उनके अपने मंत्री ही फंडों के घोटाले करने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी आवास योजना, स्वच्छ भारत अभियान आदि जैसी केंद्रीय और राज्य स्कीमों के अंतर्गत आए पैसों को आधिकारियों ने धर्मसोत की शह के साथ गबन किया या अन्य कामों के लिए प्रयोग में लाया। मान ने कहा कि इसी कारण ही नाभा शहर में पीने वाले पानी और गंदे पानी की निकासी की समस्या, कूड़ो की समस्या और आवारा पशूओं की समस्या हर दिन बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि फंडों का दुरुपयोग और गबन के कारण ही गरीब और दलित लोगों को उन के घर बनाने के लिए जारी किए फंडों से भी खाली रखा गया है।   मान ने मांग की है कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह तुरंत मंत्री धर्मसोत को अपने कैबिनट से बाहर का रास्ता दिखाएं और केस की अगली जांच के लिए केस सीबीआई को सौंपें। उन्होंने कहा कि ऐसा न होने की सूरत में आम आदमी पार्टी मंत्री धर्मसोत का घेराव करेगी। उन्होंने कहा कि वह मंत्री और आधिकारियों को गरीब और दलित लोगों के लिए आए फंडों का दुरुपयोग नहीं करने देंगे। मान ने कहा कि आम आदमी पार्टी विधान सभा के अंदर और बाहर दलितों, गरीबों और आम लोगों की आवाज बुलंद करती रहेगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here