पंजाब सरकार विशेष ज़रूरतों वाले विद्यार्थियों के कल्याण के लिए वचनबद्ध: अरुना चौधरी

0
561

आई 1 न्यूज़ 17 अगस्त 2018 (अमित सेठी ) सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा प्री और पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप देने के लिए विशेष ज़रूरतों वाले विद्यार्थियों से आवेदनों की माँग की गई है। यह आवेदन केंद्रीय सामाजिक न्याय और सशक्तिकरन मंत्रालय के विभाग की हिदायतों के अनुसार मागे गए हैं। यह जानकारी सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अरुना चौधरी ने आज एक प्रैस बयान में दी। इस संबंधी और जानकारी देते हुए श्रीमती चौधरी ने बताया कि पंजाब सरकार विशेष ज़रूरतों वाले विद्यार्थियों से सम्बन्धित हर किस्म की गतिविधियों को बहुत संजीदगी और प्राथमिकता के साथ अमल में ला रही है और ऐसे विद्यार्थियों के कल्याण को यकीनी बनाने के लिए वचनबद्ध है। मंत्री ने बताया प्री मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम 9वीं और 10वीं कक्षा के उन विद्यार्थियों पर लागू होती है जिनकी सालाना पारिवारिक आय 2.50 लाख रूपए से अधिक न हो और इस स्कॉलरशिप के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 सितम्बर,2018 है। जबकि पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम का फ़ायदा 11वीं कक्षा से लेकर मास्टर डिग्री/डिप्लोमा करने वाले वह विद्यार्थी ले सकेंगे जिनकी सालाना पारिवारिक आय 2.50 लाख से अधिक नहीं है। इसलिए आवेदन देने की अंतिम तिथि 31 अक्तूबर,2018 है। श्रीमती चौधरी ने इस संबंधी और जानकारी देते हुए बताया कि ऐसे विशेष ज़रूरतों वाले विद्यार्थियों के लिए आगामी कल्याण स्कीम, सर्वोत्तम श्रेणी विद्या, है और इस स्कीम का लाभ वह विद्यार्थी ले सकते हैं जिनकी सालाना पारिवारिक आय 6 लाख रुपए से अधिक नहीं है। इसलिए आवेदन देने की अंतिम तिथि भी 31 अक्तूबर, 2018 है। यह स्कीम इंस्टीट्यूशन ऑफ एक्सीलेंस में ग्रैजुएट/पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री /डिप्लोमा पाठ्यक्रम करने वाले विद्यार्थियों पर लागू होगी। उक्त तीनों ही किस्म की स्कीमों का फ़ायदा नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल 1.द्बठ्ठ के द्वारा लिया जा सकता है। इन तीनों स्कीमों संबंधी आवेदन सिफऱ् ऑनलाइन ही अप्लाई किया जा सकेगा। श्रीमती चौधरी ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि विदेशी यूनिवर्सिटियों में मास्टर डिग्री या डॉक्टरेट कर रहे विशेष ज़रूरतों वाले व्यक्तियों के लिए नेशनल फैलोशिप लेने के लिए सालाना पारिवारिक आय 6 लाख है और इस संबंधी आवेदन सारा साल दिए जा सकते हैं। इस स्कीम के अंतर्गत अप्लाई करने के लिए परफॉर्मा पोर्टल पर उपलब्ध है। इस परफॉर्मे में दिए आवेदन अंडर सैक्ट्री (स्कॉलरशिप), विशेष ज़रूरत वाले व्यक्ति को सशक्तिकरन विभाग, कमरा नं:516, पाँचवी मंजिल, पंडित दीन दयाल अंत्योदय भवन, सी.जी.ओ काँपलैक्स, लोधी रोड, नई दिल्ली -110003 में भेजे जा सकते हैं। भारतीय यूनिवर्सिटियों में एम.फिल / पी.एच.डी कर रहे ऐसे विद्यार्थियों के लिए सालाना पारिवारिक आय की कोई शर्त नहीं है और ऐसे विद्यार्थी अपना आवेदन (जब भी माँगे जाएं) यूनिवर्सिटी ग्रांटज़ कमिशन (यू.जी.सी) में जमा करवा सकते हैं। सरकारी या ग़ैर -सरकारी क्षेत्रों में नौकरी लेने के लिए प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी के लिए और तकनीकी / व्यवसाय प्रमुख पाठ्यक्रम में दाखि़ला लेने के इच्छुक विद्यार्थी को मुफ़्त प्रशिक्षण लेने के लिए उच्चतम सालाना आय सीमा 6 लाख रुपए है। प्रशिक्षण की फीस विभाग द्वारा चुनकर सूचीबद्ध किये संस्थानों को जमा करवानी होगी। इस संबंधी और जानकारी के लिए विद्यार्थी विभाग की वैबसाईट पर जाकर दिए गए संस्थानों के साथ संपर्क कर सकते हैं। मंत्री ने बताया कि ये सभी स्कॉलरशिप 40 फीसद विकलांगता वाले उन विद्यार्थियों के लिए लाभप्रद साबित होंगे जिनके पास प्रमाणित मैडीकल अथॉरिटी द्वारा जारी किया विकलांगता सर्टिफिकेट होगा। इस संबंधी और अधिक जानकारी से प्राप्त की जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here