आज नेशनल ब्रांडकॉस्ट डे यानी राष्ट्रीय प्रसारण दिवस मनाया गया

0
942
आई 1 न्यूज़  (अमित सेठी ) आज नेशनल ब्रांडकॉस्ट डे यानी राष्ट्रीय प्रसारण दिवस था। इस मौके पर सेक्टर 18 स्थित न्यू पब्लिक स्कूल में विद्यार्थियों के लिए रेडियो एवं डिजीटल मीडिया में कैरियर ऑप्शंस व डिजास्टर मैनेजमेंट में ब्रॉडकास्टिंग की व्यापक भूमिका विषयों पर एक परिचर्चा का आयोजन किया गया जिसमें पैनलिस्ट आल इंडिया रेडियो के सीनियर ब्रॉडकास्टर सर्वप्रिय निर्मोही व डिजिटल मीडिया एक्सपर्ट विकास शर्मा थे। सर्वप्रिय निर्मोही ने र्यक्रम के शुरू में बताया कि वर्ष 1927 मेँ आज ही के दिन पहली बार बॉम्बे रेडियो क्लब ने देश मेँ रेडियो प्रसारण शुरू किया था जिस कारण इस दिन को नेशनल ब्रांडकॉस्ट डे के तौर पर मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि रेडियो प्रसार के अन्य माध्यमों यथा प्रिंट मीडिया, टीवी या मोबाईल के मुकाबले आज भी बेहद सस्ता माध्यम है जोकि महज ५० रुपये मेँ भी उपलब्ध है। इसी वजह से ये आज तक जान-जान तक अपनी पहुँच बनाये हुए है। बीच मेँ लाइव टी वी प्रसारण आरंभ होने पर एक बार रेडियो को चुका हुआ मान लिया गया था परन्तु बाद मेँ एफ एम के माध्यम से इसने जोरदार कमबैक किया व फिर छा गया। उन्होंने कहा कि ये एक ऐसा माध्यम है जो पीढ़ी-दर-पीढ़ी सुना जाता रहा है व भविष्य मेँ भी सुना जाता रहेगा। निर्मोही ने अन्य प्रसारण माध्यमों प्रिंट मीडिया, टीवी व मोबाइल से रेडियो की तुलना करते हुए बताया कि रेडियो सुनते हुए कोई भी अन्य काम भी किया जा सकता है जबकि बाकी माध्यमों से नहीं हो सकता। उन्होंने जानकारी दी कि रेडियो की पहुंच देश की 99.19 फ़ीसदी आबादी तक व देश के 92 प्रतिशत क्षेत्र तक है जिससे इसकी सशक्तता व क्षमता का सहज ही पता चल जाता है। उन्होंने बताया कि इसी वजह से बड़ी से बड़ी आपदा के समय रेडियो सर्वाधिक उपयोगी साबित होता है। दुर्गम क्षेत्रों तक मेँ रेडियो की वजह से सूचनाएं पहुँचाना संभव हो पाता है। उन्होंने रोजमर्रा के बारे उदहारण देते हुए बताया कि आये दिन लगाने वाले ट्रैफिक जामों के बारे मेँ जनता को सूचना देने मेँ रेडियो की भूमिका से सभी लोग भली-भांति अवगत हैं। उन्होंने कहा कि इंटरनेट फेल होने की दशा मेँ जहां अन्य माध्यम बेकार हो जाते हैं वहीँ रेडियो अपना काम करता रहता हैं। उन्होंने विद्यार्थियों को रेडियो के क्षेत्र मेँ करियर बनाने के लिए उपयोगी टिप्स भी दिए जिसका विद्यार्थियों ने लाभ उठाया व उत्सुकता जताई। डिजिटल मीडिया एक्सपर्ट विकास शर्मा ने इस मौके पर डिजीटल मीडिया के बढ़ते प्रभाव पर विद्यार्थियों से अपने विचार सांझा करते हुए जब बताया कि इंटरनेट के मामले मेँ भारत जल्दी ही चीन को पीछे छोड़ देगा तो उपस्थित विद्यार्थियों ने खूब तालियां बजाईं। इसके अलावा उन्होंने सस्ते फोन व सस्ते डाटा के कारण हिंदी के अभूतपूर्व विकास की जानकारी भी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here