विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को एक सख्त कदम उठाया।

0
423

आई 1 न्यूज़  लखनऊ की तन्वी सेठ को पासपोर्ट जारी करने के बाद ट्रोलर्स की कड़ी आलोचना झेल रहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को एक सख्त कदम उठाया। पिछले कुछ दिनों से अपमानजनक और अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने वालों को लाइक करने के बजाय उन्होंने एक ट्विटर यूजर को तत्काल ब्लॉक कर दिया। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और रामविलास पासवान ने भी सुषमा के खिलाफ चल रही मुहिम की कड़ी निंदा की है। दरअसल, सोनम महाजन नामक एक ट्विटर यूजर ने विदेश मंत्री को टैग करते हुए लिखा था, ‘ये गुड गवर्नेंस देने आए थे। ये लो भाई, अच्छे दिन आ गए हैं। सुषमा जी, मैं आपकी फैन थी और आपको गाली देने वालों से लड़ी थी। अब आप प्लीज मुझे भी ब्लॉक कर दीजिए, इनाम दीजिए, इंतजार रहेगा।’ लेकिन सुषमा ने उन्हें इंतजार कराए बगैर तत्काल ब्लॉक कर दिया। इस यूजर को केंद्र्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और अभिनेता परेश रावल भी फॉलो करते हैं। पासपोर्ट मामले पर ट्रोलिंग के बारे में सुषमा ने दो दिन पहले ही रायशुमारी ली थी कि ऐसी ट्रोलिंग के साथ उन्हें कैसा बर्ताव करना चाहिए। जवाब में 57 फीसदी लोगों ने विदेश मंत्री का समर्थन करते हुए कहा था कि उन्हें विरोध करना चाहिए। इस मामले में कांग्रेस ने भी भाजपा को निशाना बनाया था कि विदेश मंत्री के समर्थन में कोई भाजपा नेता आगे नहीं आया। लेकिन, सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बाद नितिन गडकरी और रामविलास पासवान ने सुषमा की ट्रोलिंग को दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक बताया है। गडकरी ने कहा कि जिस तरीके से सुषमा जी को ट्रोल किया जा रहा है, वह दुर्भाग्यपूर्ण और उनके खिलाफ फैलाए जा रहे दुष्प्रचार का एक हिस्सा है। वह उस वक्त भारत में नहीं थीं। वह फ्रांस, बेल्जियम और लक्जेमबर्ग के आधिकारिक दौरे पर थीं। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा, ‘मैं श्रीमती सुषमा स्वराज जी के खिलाफ चल रही शर्मनाक ट्रोलिंग मुहिम की कड़ी निंदा करता हूं। वह बहुत वरिष्ठ सांसद हैं और हमें एक-दूसरे का आदर करना चाहिए। उनके खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल गलत है।’ इससे पहले विवाद शुरू होते ही सुषमा अपने खिलाफ ट्रोल करने वालों को लाइक कर अलग तरीके से इन ट्रोलर्स का विरोध कर रही थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here