पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने लुधियाना शहर में एडवर्टाइजमेंट के घोटाले का पर्दाफाश किया है।

0
464

चंडीगढ़, 12 जून 2018 ( अमित सेठी ) पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने लुधियाना शहर में एडवर्टाइजमेंट के घोटाले का पर्दाफाश किया है। पंजाब के लोकल बॉडीज मिनिस्टर नवजोत सिंह sidhu कर रहे है पत्रकारवार्ता पंजाब की आर्थिक स्तिथि बेहद खराब है और यह चिंता का विषय है और आज कंगाली की ओर है निजी स्वार्थों के कारण कुछ लोगो ने पंजाब को बर्बाद कर दिया नोच लिया पंजाब सरकार को advertisment से कोई पैसा नहीं मिल रहा है जबकि जयपुर जैसे शहर में 80 करोड़ रुपए advertisement से कमाता है लेकिन लुधियाना में केवल 1 करोड़ दे रहा है जबकि कई इन्डस्ट्री लुधियाना में है लेकिन पंजाब की पिछली अकाली-भाजपा सरकार ने एडवर्टाइजमेंट का सारा पैसा लूट कर खा लिया।लेकिन पंजाब में पिछले 5 सालों में किसी चीज का चाहे यूनिपोल हो बस शेल्टर हो कोई टेंडर नहीं हुआ ओरिजिनल टेंडर दिया उस कंपनी का नाम है ग्रीन लाइंस सारी जानकारी इंक्वायरी करके पता चला नंगल के शिवालिक कॉलेज ऑफ फार्मेसी में नियुक्तियों को लेकर काफी विवाद हुआ था और यह आरोप लगी थी कि नियुक्तियों में धांधली की है लेकिन अब पंजाब सरकार इसपर फिर से विचार करेगी और अब रिक्रूटमेंट फिर से किये जायेंगे एडवरटाइजिंग पॉलिसी को लेकर पंजाब सरकार ने Sit बिठाई गई इसमें इन्क्वायरी की गई उसमें पता चला कि 2009 में 8 मीडिया का टेंडर हुआ लेकिन टेंडर में बस शेल्टर का साइज बड़ा कर दिखाया औऱ वो 500 स्क्वायर फिट का है वो advertisement ज्यादा लगती थी 2013 से 2017 तक सिर्फ बस que शेल्टर का ही टेंडर हुआ इससे यह हुआ कि जो बाकी मीडिया से पैसे आने थे वो बस शेल्टर में लगे ।इसकी टर्म्स और कंडीशन्स बदलती गयीAdvertisment टैक्स जो कारपोरेशन को देना था वो बिडर को दे दिया उसी में काउंट कर दिया दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी चाहे इसमें कोई भी हो उनके खिलाफ बनती कार्रवाई की एक ही टेंडर को फायदा जाने के लिए गलत नाम लिखे गए गलत साइन किए गए जिस वजह से टेंडर केवल एक ही कंपनी को मिला इसके कारण और किसी का टेंडर कैंसिल नहीं कर पाए
इन सब चीजों को देखते हुए पंजाब सरकार ने फैसला लिया है कि एडवरटाइजिंग पॉलिसी इंटरनेट पर डाल दी जाएगी और मंडे से टेंडर प्रोसेस शुरू किया जाएगा
अख़बारों में भी आएगा और गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के पोर्टल पर भी आएगा इसकी रिकवरी नही होगी क्योंकि कोई टेंडर नहीं है तो कोई डाटा ही नहीं है उन्होंने इसके लिए पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के जिम्मेवार है 18 लाख की जनसंख्या वाले शहर लुधियाना में क्यों अभी तक क्यों कोई advertisement से पैसे नहीं मिले यह सोचने व वाली बात है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here