7 किसान जत्थेबंदियों द्वारा चंडीगढ़ की ओर मार्च निकला गया कर्जा माफी को लेकर 

0
451

आई 1 न्यूज़ 3 अप्रैल 2018  7 किसान जत्थेबंदियों द्वारा चंडीगढ़ की ओर मार्च निकला गया कर्जा माफी को लेकर कर्जा माफी , खुदकुशी कर चुके किसानों के परिवार को नौकरी , गन्ने की बकाया रकम और गरीब किसानों को प्लाट देने जैसी मांगों को लेकर आज पंजाब की 7 किसान जत्थेबंदियों ने चंडीगढ़ की ओर रोष मार्च निकालने का फैसला किया था जिसके चलते वह मोहाली के अलग-अलग क्षेत्रों में इकट्ठे हुए थे पहले उन्होंने मोहाली के इतिहासिक गुरुद्वारा अंब साहब में इकट्ठे होकर जहां से मार्च निकालने का फैसला किया था लेकिन 1 बजे तक उनको चंडीगढ़ में घुसने और वहां पर रैली करने की परमिशन नहीं मिली थी तकरीबन 1 बजे के करीब उनको चंडीगढ़ के सेक्टर 25 के रैली ग्राउंड में रैली करने की और धरना प्रदर्शन करने की परमिशन मिल गई जिसके चलते वह अपनी बसों और अपनी गाड़ियों में मोहाली से चंडीगढ़ की ओर कूच कर गए किसान जत्थेबंदियों के लोगों का कहना है कि पंजाब में हर सरकार किसानों को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करती है जब वोटिंग गुजर जाती हैं और सरकार बन जाती है तो वह उनकी मांगों को मानने को और उनकी बात सुनने को तैयार नहीं होते जिसके चलते उनको सड़कों पर सरकार का विरोध करने के लिए और अपनी मांगों को मनवाने के लिए रोष प्रदर्शन धरना और रैलियां करनी पड़ती है ।

उनकी मुख्य मांगों में जो सरकार बनने से पहले किसानों के पूरे कर्ज पर लकीर फेर दी जाएगी और पूरा कर्जा माफ कर दिया जाएगा जो किसान आर्थिक मंदी के चलते खुदकुशी कर चुके हैं उनके परिवार के एक सदस्य को नौकरी तक दी जाएगी और गन्ने के जो बकाया है वह राशि भी तुरंत रिलीज की जाएगी और जो गरीब और आर्थिक मंदी का शिकार किसान है उनको प्लाट भी दिए जाएंगे लेकिन ऐसा कुछ ना होने की वजह से यह रैली ओर धरने प्रदर्शन करने पड़ रहे हैं ।
7 किसान जत्थेबंदियों को चंडीगढ़ में अपना धरना प्रदर्शन और रैली चंडीगढ़ में घुसने से पहले पंजाब पुलिस और चंडीगढ़ पुलिस द्वारा बैरिकेटिंग की गई थी लेकिन परमिशन मिलने के बाद इन किसानों को किसी भी बाधा के बिना चंडीगढ़ में जाने दिया गया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here