राजधानी शिमला के चक्कर में घर से सुबह एक महिला ने 20 दिन के नवजात का अपहरण

0
526
राजधानी शिमला के चक्कर में घर से सुबह एक महिला ने 20 दिन के नवजात का अपहरण कर लिया। बालूगंज थाना पुलिस ने कुछ घंटे बाद ही बच्चे को बरामद कर आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया। महिला बच्चे को सोलन के शालाघाट में रिश्तेदार के घर का ताला खोलकर अकेले छोड़ आई थी।

घर का मालिक जैसे ही घर पहुंचा तो उसने ताला खुला देखा और भीतर बच्चे के रोने की आवाज सुनी। अंदर जाकर देखा तो बच्चे के पैर में कमला नेहरू अस्पताल शिमला का टैग लगा हुआ था।

उसने तुरंत पुलिस को सूचना दी। उधर, बच्चे की मां की ओर से पुलिस को शक के आधार पर दिए महिला आरोपी के मोबाइल नंबर पर फोन कर पुलिस ने फोन कर आरोपी महिला को थाने बुलाया।

वह बच्चे के अपहरण से इनकार करती रही, लेकिन बच्चे की बरामदगी के बाद पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

woman kidnapped newborn baby from hospital in Shimla

महिला ने जिस घर में बच्चा छोड़ा था, वहां पुलिस को उसका हैंडबैग भी बरामद हुआ है। पुलिस अब इस पहलू पर भी जांच कर रही है कि महिला ने बच्चा खुद के लिए चुराया था या बेचने के लिए। आरोपी महिला की चार बेटियां बताई जा रही हैं।

बढ़ाई थी प्रसूता से दोस्ती

पुलिस को दी शिकायत में चक्कर निवासी नवजात की मां ने बताया कि वह कमला नेहरू अस्पताल शिमला में दाखिल थी। प्रसव के बाद अर्की इलाके की महिला ने बताया कि उसके बच्चे को पीलिया हुआ है और वह अस्पताल में इलाज करवा रही है। वह उससे किसी न किसी बहाने रोज मिलने आती। उसने दोस्ती कर ली और दोनों ने एक-दूसरे के मोबाइल नंबर भी लिए।

अस्पताल से छुट्टी होने के बाद आरोपी महिला मंगलवार सुबह चक्कर स्थित उनके घर पहुंच गई। इस बीच बच्चे की मां को नहाने जाना था। आरोपी महिला ने बच्चे का ध्यान रखने का आश्वासन दिया। जब वह नहा कर लौटी तो महिला और बच्चा गायब थे। उसने तुरंत परिजनों और थाना बालूगंज को सूचित किया।

पुलिस ने आरोपी महिला के मोबाइल नंबर पर कॉल कर बच्चे को सुरक्षित लौटाने को भी कहा। दोपहर एक बजे तक महिला शालाघाट पहुंच गई थी। पुलिस के बढ़ते दबाव को देखते हुए महिला ने बच्चे को रिश्तेदार केशवराम निवासी घुमारी (शालाघाट) के घर का ताला खोल वहां अकेले छोड़ दिया और खुद बालूगंज थाने पहुंच गई।

सूत्रों के अनुसार महिला को पता था कि केशवराम अपने घर की चाबी गमले के नीचे छिपाकर रखता था। इसी बीच जब केशव घर पहुंचा तो उसने बच्चे के रोने की आवाज सुनी। बच्चे के पैर पर अस्पताल का टैग लगा हुआ था जिसमें उसकी मां का नाम लिखा था। उसने अर्की पुलिस को सूचित किया।

पुलिस की एक टीम नवजात के माता-पिता को लेकर मौके पर पहुंची। दंपती ने बच्चे की पहचान कर ली है। बच्चा बरामद कर महिला को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here