जिला सिरमौर में चैत्र नवरात्रों की तैयारियां जोर शोर से

0
489
ब्यूरो रिपोर्ट :17 मार्च 2018
चैत्र नवरात्रों की तैयारियां जिला सिरमौर में जोर शोर से चल रही हैं। 18 मार्च से शुरू हो रहे चैत्र नवरात्रों के लिए जिला के सभी देवालय सजने लगे हैं। उत्तर भारत की शक्तिपीठ माता बाला सुंदरी त्रिलोकपुर तथा भंगाइणी मंदिर में नवरात्र की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। त्रिलोकपुर मंदिर में उमड़ने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए यहां जिला प्रशासन ने सुरक्षा के सभी इंतजाम कर लिए है
नवरात्र मेले के दौरान यहां हथियार लेकर चलने पर प्रतिबंध लगा दिया है। नारियल फो

navratra

ड़ने तथा तूड़ी या भूसे के वाहन पर भी प्रतिबंध लग चुका है। उधर, भंगाइणी मंदिर को भी नवरात्र पर्व के लिए लड़ियों से सजा दिया है। लोगों की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरों का भी प्रतिबंध कर दिया है। द्राविल के महासु मंदिर, बढोल के बिजाई माता मंदिर व पंजाह के कुचियाट माता मंदिर को भी नत्ररात्र पर्व के लिए विशेष रूप से सजाया गया है।

बता देें कि त्रिलोकपुर की शक्तिपीठ माता बाला सुंदरी में जहां रविवार से मेला भी आयोजित होगा। वहीं मंदिर परिसर में रोज विशाल भंडारे भी आयोजित किए जाएंगे। भंगाइणी मंदिर में भी आठ दिन तक भंडारे का आयोजन किया जाएगा। भंगाइणी मंदिर के प्रबंधक मोहर सिंह राणा ने कहा कि नवरात्रों की तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। यात्रियों की सुरक्षा के लिए निजी सुरक्षा गार्डों की भी तैनाती की जाएगी।
उधर, जिला दंडाधिकारी ललित जैन ने कहा कि त्रिलोकपुर में माता बाला सुंदरी मंदिर में हर वर्ष लगने वाले मेले की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। पुलिस सुरक्षा, सीसीटीवी कैमरों, पार्किंग, बिजली, पानी की समुचित व्यवस्था की गई है। मंदिर में नारियल फोड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया है। उन्होंने कहा कि मेले के दौरान पूरे उत्तर भारत से आने वाले श्रद्धालुओं को समुचित सुविधा मुहैया करवाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here