अब मिड-डे मील में गुणवत्ता युक्त और पौष्टिक तत्वों वाली दालें ही परोसी जाएंगी

0
550
केंद्र सरकार ने किराना दुकानों से मिड-डे मील के लिए दाल खरीद पर रोक लगा दी है। प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले पहली से आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को अब मिड-डे मील में गुणवत्ता युक्त और पौष्टिक तत्वों वाली दालें ही परोसी जाएंगी।

मिड-डे मील के लिए अब स्कूल प्रभारियों को केंद्रीय एजेंसी नैफेड से ही दालों की खरीद करनी होगी। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने इस संदर्भ में सभी जिला उपनिदेशकों को आदेश जारी कर दिए हैं।

सरकारी स्कूल अब राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन फेडरेशन ऑफ  इंडिया लिमिटेड (नैफेड) के माध्यम से ही राशन की खरीद कर सकेंगे। केंद्र सरकार ने बीते दिनों सभी प्रदेशों के शिक्षा सचिवों के साथ वीडियो कांफ्रेंस कर नई व्यवस्था को लागू करने के आदेश दिए हैं।

इस वजह से लिया फैसला

केंद्र सरकार ने कहा है कि नैफेड के माध्यम से स्कूली बच्चों को गुणवत्ता युक्त और पौष्टिक तत्वों वाली दालें दोपहर के भोजन में मिलने से भोजन का स्तर उच्च होगा। किराना दुकानों में दालों की कई किस्में मिलती हैं।

इनमें पौष्टिकता भी कम होती है। ऐसे में केंद्र सरकार ने सभी सरकारी स्कूलों के मिड-डे मील के प्रभारियों को अब किराना दुकानों से खरीद करने की अनुमति नहीं देने का फैसला लिया है। इसके अलावा नैफेड से खरीदे जाने वाले सामान की पेमेंट भी नकद तरीके से नहीं होगी।

स्कूल प्रभारियों को ऑनलाइन बैंकिंग, एनईएफटी या आरटीजीएस के माध्यम से ही पेमेंट करनी होगी। प्रारंभिक शिक्षा निदेशक मनमोहन शर्मा ने बताया है कि सभी जिलों को केंद्र सरकार की नई व्यवस्था से अवगत करवा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here