12वीं की छात्रा ने दे दी जान,अंग्रेजी का पेपर देकर लौटी थी घर

0
486
पेपर देकर लौटी 12वीं की छात्रा ने स्कूल की वर्दी के दुपट्टे से फंदा लगा लिया। हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड की 12वीं कक्षा की अंग्रेजी का पेपर देकर लौटी वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल नबाही की छात्रा ने वर्दी के दुपट्टे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।

मामले में कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है, लेकिन पुलिस की प्रारंभिक जांच में पेपर ठीक न होना आत्महत्या का कारण माना जा रहा है। मृतका के पिता दिल्ली में टैक्सी चलाते हैं।

घटना के बाद से लड़की की मां बेसुध है। छात्रा होनहार थी और उसने दसवीं कक्षा में 80 फीसदी अंक हासिल किए थे। पुलिस के अनुसार छात्रा मंगलवार को परीक्षा देकर घर लौटी और अपनी मां के पास आकर बोली कि पेपर ठीक नहीं हुआ।

मां ने दिया था ये दिलासा

मां ने उसे अगले पेपर की तैयारी करने का दिलासा देते कहा कि वह घर जाए और खाना खाकर अगले पेपर की तैयारी करे। छात्रा ने घर पहुंचकर स्कूल की वर्दी के दुपट्टे का फंदा बनाया और पंखे से लटक गई।

कुछ देर बाद उसकी मां घर पहुंची तो बेटी पंखे से झूल रही थी। उसने शोर मचाते हुए आसपास के लोगों को एकत्र किया। छात्रा को एंबुलेंस से नागरिक अस्पताल सरकाघाट ले जाया गया, जहां पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

नबाही स्कूल के प्रधानाचार्य अशोक कुमार शर्मा ने कहा कि छात्रा का आत्महत्या का कदम बेहद ही दुखद है। डीएसपी चंद्र पाल सिंह ने कहा कि मामले में कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं किया गया है।

मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है। छात्रा की आंसर शीट को जांचा गया है। प्रारंभिक जांच में पेपर ठीक न होना ही आत्महत्या का कारण माना जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here