हरियाणा विधानसभा के दुसरे दिन सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी |

0
608

आई 1 न्यूज़ हरियाणा हरियाणा विधानसभा सदन में आज पूरा दिन हंगामेदार रहने के बाद दूसरे दिन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई है। कल सदन की कार्यवाही 10 बजे से शुरू की जाएगी। विधानसभा के बाहर जहां कांग्रेस के विधायकों ने पकौड़े बेचे वहीं सदन में इनेलो द्वारा एसवाईएल का स्थगन प्रस्ताव रखने पर हंगामा हुआ।

कांग्रेस विधायकों ने बेचे पकौड़े अौर सीएम ने खरीदें
हरियाणा विधान सभा में भी पकोड़ा को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष में व्यंगात्मक बहस हुई और कांग्रेस ने पकोड़े बेचे। इस दौरान सीएम खट्टर ने कांग्रेसी विधायक गीता भुक्शकड़ और किरण चौधरी से पकोड़े खरीदें। साथ ही शकुंतला खटक ने सदन में शिक्षा मंत्री राम बिलास को पकोड़े दिए। जिन्हें शिक्षा मंत्री ने सम्मान सहित स्वीकार किया।

पकौड़े वालों का मजाक उड़ाना कांग्रेस को पड़ेगा भारी: कृषि मंत्री
कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि कांग्रेस विधायकों को पकौड़े बेचने वालों का मजाक न उड़ाएं। पहले कांग्रे‍ेसियों ने चायवालाें का मजाक उड़ाया था तो उनको यह कितना महंगा पड़ा यह सबको पता है। इसके बाद भी ये नहीं सुधरे अाैर अब ये पकौडे वालों का मज़ाक उड़ा रहे हैं। यह इनको और महंगा पड़ेगा। कांग्रेस विधायकों ने कहा कि भाजपा बेरोजगार युवाओं का मजाक बना रही है और यह बेहद शर्मनाक है।

सदन में SYL को लेकर कांग्रेस अौर इनेलो का हंगामा
सदन में बजट सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही में इनेलो अौर कांग्रेस ने एसवाईएल का स्थगन प्रस्ताव रखा जिसे स्पीकर ने रद्द कर दिया है। जिसके बाद इनेलो व कांग्रेस द्वारा सदन में जबरदस्त हंगामा किया गया। इनेलो विधायकों द्वारा सदन में मुर्दाबाद के नारे लगाए गए। इनेलो नेता अभय चौटाला अौर कांग्रेस के विधायक विरोध करते हुए वेल तक पहुंच गए। जिसके बाद पहले कांग्रेस अौर बाद में इनेलो ने भी सदन से वॉक आउट किया।

धनखड़ व चौटाला में हुई जुबानी जंग
इस दौरान कृषि मंत्री अोपी धनखड़ व इनेलो नेता अभय चौटाला में जबरदस्त जुबानी जंग हुई। अभय चौटाला ने कहा कि जिस व्यक्ति के किसी विभाग का एसवाईएल से कुछ लेना देना नहीं वह उसकी पोल पट्टी भी खोलेंगे। एसवाईएल पर चर्चा की मांग को लेकर इनेलो ने भी सदन से वाक आउट किया।

सदन में गूंजा आंगनबाड़ी वर्कर की हड़ताल का मुद्दा
कांग्रेस ने आंगनबाड़ी कर्मचारियों के मुद्दे पर काम रोको प्रस्ताव भी दिया लेकिन स्पीकर ने उसे भी खारिज कर दिया। जिसके बाद कांग्रेस विधायकों अौर स्पीकर में जोरदार बहस हुई अौर कांग्रेसी विधायक दूसरी वेल पर पहुंच गए। स्पीकर कंवर पाल गुज्जर ने कांग्रेसियों से की अपील अपनी सीटों पर जाएं। स्पीकर ने कहा कॉल एटेंशन के रूप में वह कल चर्चा भी करवाएंगे। विधानसभा में कांग्रेसी विधायकों द्वारा वेल में नारेबाजी की जा रही है। जिसके बाद स्पीकर ने सदन में मार्शल बुलाए अौर कांग्रेसी विधाक अपनी सीटों पर लौटे।

आंगनवाड़ी वर्करों की मांगें नहीं होंगी पूरी, सीएम ने किया स्पष्ट
शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने कहा कि एसवाईएल का मुद्दा वर्षों पुराना है। उन्होंने कहा कि विपक्ष सदन की कार्यवाही के प्रति संजीदा नहीं है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सदन में कहा कि हमारे घोषणा पत्र में कहीं भी नहीं है कि आंगनबाड़ी वर्कर को पक्का करेंगे। पिछली सरकार ने 2014 में चुनावों को लेकर इनके लिए घोषणा की लेकिन हमारी सरकार ने उन सभी घोषणा को पूरा किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में केवल हरियाणा में ही आंगनबाड़ी वर्करों का वेतन सबसे ज्यादा है। पूरे देश में 10500 रुपए अौर हरियाणा में 11400 रुपए वेतन है।

सीएम ने लाल झंडा़ धारियों पर साधा निशाना
वहीं मुख्यमंत्री ने बिना नाम लिए CITU(Centre of Indian Trade Unions) पर निशाना साधते हुए कहा कि वे प्रदेश में लाल रंग की बदमाशी नहीं चलने देंगे। हर किसी की सभी मांगे नहीं मानी जा सकती है। बीजेपी ने लाल झंडे वालों से कई राज्य मुक्त किए हैं। इतना ही नहीं हरियाणा में भी कई कारखाने लाल जंड़े ने बंद करवाए हैं। जिसके बाद एक बार फिर से कांग्रेस विधायकों ने सदन से वॉक आउट किया।

सदन में वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु भी बोले
वित्तमंत्री कैप्टल अभिमन्यु ने एसवाईएल के मुद्दे पर पर कहा कि यह मामला लंबे समय से अटका हुआ था जिसका फैसला केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर हरियाणा के हित में करवाया गया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी इनेलो के गठबंधन की सरकार के दौरान बीजेपी विधायकों ने एसवाईएल के मुद्दे पर इस्तीफा दिया था, लेकिन इनेलो ने सत्ता सुख के चलते इस पर काम नहीं किया, अब मामला कोर्ट विचाराधीन है और विपक्ष राजनीति ना करें। वहीं इनेलो की 7 मार्च को दिल्ली रैली पर कहा कि इनेलो नेता लोगों को बहकाकर रैली में ले जाना चाहते हैं।

इनेलो नेता अभय चौटाला वित्तमंत्री पर बोला तीखा हमला
अभय चौटाला ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश की प्रति वह परसों सदन में ले कर आएंगे। चौटाला ने कहा कि सत्ता पक्ष सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अनदेखी कर रहा है, कांग्रेस व बीजेपी केवल भाषणों तक सीमित है। उन्होंने कहा इससे पहले 10 साल कांग्रेस ने यह खेल खेला है, दादुपर नलवी नहर की जमीन आज तक सरकार डी नोटिफाई करने में विफल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here