पंजाब ग्रामीण डिस्पेंसरी फार्मासिस्टों के मुद्दों का ठोस हल निकाला गया |

0
442
आई 1 न्यूज़ चंडीगढ़, 06 मार्च 2018   पंजाब ग्रामीण डिस्पेंसरी फार्मासिस्टों के मुद्दों का ठोस हल निकाला जायेगा-तृप्त बाजवा नये वित्तीय वर्ष से वेतन में वृद्धि की जायेगी फार्मासिस्ट यूनियन की ओर से ग्रामीण विकास व पंचायत मंत्री के साथ बैठक पंजाब के ग्रामीण विकास और पंचायत मंत्री स. तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने ग्रामीण फार्मासिस्ट यूनियन के नेताओं को भरोसा दिलाया है कि उनकी जायज मांगों का ठोस हल निकालने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से विचार विमर्श किया जायेगा और अगर ज़रूरत पड़ी तो यह मामला कैबिनेट में भी रखा जायेगा। ग्रामीण विकास और पंचायत मंत्री ने आज ग्रामीण डिसपैंसरी फार्मासिस्ट यूनियन के अधिकारियों से उनकी मांगों संबंधित बैठक के दौरान यह भरोसा दिलाया। स. तृप्त बाजवा ने नये वित्तीय वर्ष से ग्रामीण डिसपैंसरियों के फार्मासिस्टों के वेतन में वृद्धि करने का भरोसा दिलाते हुये कहा कि फार्मासिस्टों के 31 मार्च को ख़त्म हो रहे अनुबंध को भी बढ़ा दिया जायेगा। बैठक के दौरान फार्मासिस्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने बताया कि वह गत् 12 वर्ष से अनुबंध पर कार्य कर रहे हैं, परन्तु गत् सरकार ने उनकी माँगों की तरफ कभी भी कोई ध्यान नहीं दिया। इस अवसर पर उन्होंने प्रस्ताव रखा कि अध्यापकों की तजऱ् पर अगर उनकी सेवाओं को भी नियमित कर दिया जाये तो वह सरकार के निर्देशों के अनुसार तीन वर्ष मूल वेतन पर कार्य करने के लिए सहमत हैं। पंचायत मंत्री ने कहा कि वह इस संबंध में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से विचार विमर्श करेंगे और यदि ज़रूरत पड़ी तो इस मामले को कैबिनेट में भी रखा जायेगा । आज की इस बैठक में ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव अनुराग वर्मा, निदेशक सी. सिब्बन, डिप्टी डायरैक्टर गुरमीत सिंह सिद्धू, ओ.एस.डी गुरदर्शन सिंह बाहिया और ग्रामीण डिसपैंसरियों के फार्मासिस्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here