टीम इंडिया का सीरीज पर 5-1 से कब्जा, विराट ने दिए संन्यास के संकेत, बताया- कब तक खेलेंगे क्रिकेट

0
622
आई 1 न्यूज़  : खेल जगत 

टीम इंडिया ने शुक्रवार को सेंचुरियन में खेले गए आखिरी वन-डे में दक्षिण अफ्रीका को 8 विकेट से हराकर इतिहास रच दिया। इसके साथ ही टीम इंडिया ने सीरीज पर 5-1 से कब्जा कर लिया। गौरतलब है कि कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर दक्षिण अफ्रीका को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में टीम इंडिया को 205 रन का लक्ष्य दिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने कप्तान विराट कोहली के 129 रनों की नाबाद पारी की बदौलत 32वें ओवर में ही 206 रन बनाकर मैच जीत लिया, जबकि उसके 8 विकेट शेष रह गए। टीम इंडिया की तरफ से इस सीरीज का पहला वन-डे मैच खेल रहे युवा तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर ने लाजवाब प्रदर्शन किया। उन्होंने 52 रन देकर सबसे ज्यादा 4 विकेट हासिल किए। इस मुकाबले में विराट ने अपने वन-डे क्रिकेट करियर का 35वां शतक लगाया। वहीं, विराट इस मैच के मैन ऑफ द मैच भी रहे, जबकि उन्हें मैन ऑफ द सीरीज से भी नवाजा गया।

वहीं, लेग स्पिनर युजवेन्द्र चहल और डेथ ओवर स्पेशलिस्ट तेज गेंदबाज जसप्रीस बुमराह ने 2-2 विकेट चटकाए, जबकि चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव और स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या को 1-1 विकेट से ही संतोष करना पड़ा।

आइये जानते हैं कि सीरीज जीतने के बाद कप्तान विराट कोहली ने क्या कहाः-

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 5-1 से सीरीज जीतने के बाद कप्तान कोहली ने कहा, ‘आज का दिन मेरे लिए काफी अच्छा था। पिछले मैचों में मैनें सही माइन्डसेट से नहीं खेला, बहरहाल दक्षिण अफ्रीका अच्छी जहग है, जहां बल्लेबाजी करना बल्लेबाजों को अच्छा लगता है। इसलिए मैनें टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। मुझे शॉर्ट गेंद खेलना पसंद है, संयोग से वे लोग शॉर्ट गेंदबाजी ही कर रहे थे। मुझे लगता है कि पिच रोशनी के हिसाब से बल्लेबाजी करने के लिए बेहतर है। अब तक यह एक रोलरकोस्टर रहा है।’

विराट ने आगे कहा, ‘जो लोग मेरे करीब हैं, उनको ये क्रेडिट जाता है। मेरी पत्नी ने मुझे पूरे दौरे में सपोर्ट किया। इसके लिए आभारी हूँ। जाहिर है, आप सामने से आगे बढ़ना चाहते हैं, और यह देखकर बढ़िया लग रहा है। क्रिकेट करियर में मेरे पास 8-9 साल बचे हैं और मैं हर दिन कुछ ज्यादा करना चाहता हूं। मेरे लिए यह एक आशीर्वाद है कि मैं स्वस्थ हूं और चाहता हूं कि अपने देश का कप्तान बना रहा हूं।’

इस दौरान विराट ने कहा, ‘पूरे सीरीज में दो स्पिनरों ने शानदार प्रदर्शन किया। शिखर धवन और रोहित ने भी अच्छा किया। अब हम लोगों का ध्यान टी-20 पर है। यह टूर अभी समाप्त नहीं हुआ है। पहले दो टेस्ट में मिली हार के बारे में उन्होंने कहा कि सही माइंडसेट के साथ शायद पहला दो टेस्ट हम लोगों ने नहीं खेला। तीसरे टेस्ट में हमने वापसी की और फिर पिछे मुड़कर नहीं देखा।’

एडेन मार्करम, कप्तान दक्षिण अफ्रीका

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान एडेन मार्करम ने कहा, ‘यह बहुत अच्छी सीरीज रही, कुछ ऐसा है जिसे हमने बहुत सोचा था और इसे समझने की कोशिश करनी चाहिए कि हम क्यों उतना अच्छा नहीं खेल पाए। यह हम लोगों का कोई खराब प्रदर्शन नही है, लेकिन भारत ने ज्यादा अच्छा प्रदर्शन किया इसलिए वो जीते और हम फिके पड़ गए। इस सीरीज से हमें सीख लेने और आगे बढ़ने की जरूरत है।’

टीम इंडिया – फोटो : BCCI

बता दें कि दक्षिण अफ्रीका में टीम इंडिया की यह ऐतिहासिक सीरीज जीत है। इससे पहले टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका की सरजमीं पर कोई भी द्विपक्षीय सीरीज नहीं जीती थी। हालांकि, इस मुकाबले से पहले ही टीम इंडिया सीरीज जीत चुकी थी। आखिरी वन-डे महज एक औपचारिकता रह गई थी, जिसे टीम इंडिया ने जीत कर अपने नाम किया।

मालूम हो कि ‘मेन इन ब्लू’ ने डरबन में पहला मैच 6 विकेट से, दूसरा मैच सेंचुरियन में 9 विकेट से और तीसरा मैच केपटाउन में 124 रनों से जीता था, लेकिन प्रोटियाज टीम ने बारिश से प्रभावित चौथे पिंक वन-डे में पांच विकेट से जीत हासिल कर मैच में वापसी की थी। वहीं, पांचवें वन-डे में टीम इंडिया ने मेजबान टीम को 73 रनों से हराकर इतिहास रचा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here