एक अच्छे नागरिक के लिए गुणात्मक संस्कारयुक्त शिक्षा आवश्यकः सुरेश भारद्वाज

0
601

 

आई 1 न्यूज़ : संदीप कश्यप

शिमला,

एक अच्छे नागरिक के लिए गुणात्मक संस्कारयुक्त शिक्षा आवश्यक है। प्रदेश में शिक्षा का व्यापक प्रसार हुआ हैै, लेकिन गुणात्मक व संस्कारयुक्त शिक्षा को बढ़ाने के लिए और अधिक प्रयास किए जाने अति आवश्यक है। यह बात आज शिक्षा, विधि व संसदीय मामले मंत्री श्री सुरेश भारद्वाज ने गीता निकेतन वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुन्नी में वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह के अवसर पर अपने सम्बोधन में कही।

श्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि वर्तमान समय में गुणात्मक व संस्कारयुक्त शिक्षा के विस्तार के लिए अध्यापकों व अभिभावकों के दायित्वों में और अधिक वृद्धि हुई हेै। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षा का व्यापारिकरण तीव्र गति से हो रहा है, जिसे रोकना बहुत जरूरी है।

उन्होंने प्राचीन काल में गुरूकुल पद्धति का उदाहरण देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार समाज के प्रत्येक वर्ग को समान शिक्षा का अधिकार देने के लिए कृत संकल्प है। उन्होंने सरकारी विद्यालयों के अध्यापकों को अपने दायित्वों के प्रति ईमानदारी व कर्तव्यनिष्ठा से निभाने का संकल्प लेने का आहवान किया।

उन्होंने कहा कि समाज में युवा पीढ़ी का रूझान पाश्चात्य संस्कृति की ओर बढ़ता जा रहा है। वर्तमान परिपेक्ष्य में इसपर रोक लगाना आवश्यक है जिसके लिए माता-पिता व अध्यापकों का सहयोग आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार द्वारा स्कूल व काॅलेज में गुणात्मक व संस्कारयुक्त शिक्षा प्रदान करने के लिए भरसक प्रयास किए जा रहे हैं। निजी संस्थाओं द्वारा खोले जा रहे विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता व सर्वांगीण विकास, गरीब छात्रों को भी दाखिले दिए जाने पर बल दिया जाना आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में निजी स्कूल खोलने की होड़ लगी है तथा इनमें से कुछ स्कूल गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा देने में असफल रहे हैं। गीता निकेतन विद्यालय द्वारा भारतीय संस्कृति व योग को बढ़ावा देने का भरसक प्रयास किया जा रहा है।

प्रधानाचार्य श्रीमती गीता ठाकुर ने स्कूल की वार्षिक रिपोर्ट पढ़ी।

प्रबंधक श्री वीरेंद्र ठाकुर ने मुख्य अतिथि का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि गीता निकेतन वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुन्नी विद्यार्थियों को संस्कारयुक्त शिक्षा देने के लिए इस क्षेत्र में प्रसिद्ध है।

इस अवसर पर गीता निकेतन वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुन्नी के बच्चों द्वारा रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।

डाॅ. प्रमोद शर्मा ने सुन्नी क्षेत्र की जन समस्याओं के बारे में अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि गीता निकेतन वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुन्नी में दूरदराज क्षेत्र से बच्चे शिक्षा ग्रहण करने आते हैं जिसका श्रेय स्कूल के प्रबन्धक व अध्यापक वर्ग को जाता है।

इस अवसर पर उपस्थित करसोग क्षेत्र के विधायक श्री हीरालाल ने अपने संबोधन में शिमला ग्रामीण, करसोग, मण्डी, रामपुर क्षेत्र की सड़कों के रख रखाव व निर्माण कार्य को गति प्रदान करने का अनुरोध किया।

उन्होंने गीता निकेतन वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुन्नी द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए विधायक निधि से 5100 रुपये देने की घोषणा की।

श्री सुरेश भारद्वाज ने अपनी ऐच्छिक निधि से सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति के लिए 21 हजार रुपये देने की घोषणा की।

कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि द्वारा पढ़ाई व अन्य खेल गतिविधियों के लिए उत्कृष्ठ व प्रतिभाशाली बच्चों को पुरस्कृत भी किया गया।

इस अवसर पर करसोग क्षेत्र के विधायक श्री हीरा लाल, डाॅ. प्रमोद शर्मा, महिला वरिष्ठ कार्यकर्ता भाजपा वीना ठाकुर, जिला ग्रामीण के महासचिव छविन्द्र पाल, कमल ठाकुर, उप निदेशक शिक्षा उच्चतर, श्रीमती राजेश्वरी बत्ता, उप निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा राकेश वशिष्ट, प्रधानाचार्य गीता ठाकुर, स्कूल कमेटी के अध्यक्ष श्री वीरेंद्र ठाकुर उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here