विभागीय उपकरणों की समयबद्ध उपलब्धता तथा तैयारियों के संबंध में समीक्षा

0
501

आई 1 न्यूज़ : संदीप कश्यप

शिमला, 06 फरवरी

भूकम्प आपदा वृहद माॅक अभ्यास 08 फरवरी को शिमला नगर के उपायुक्त कार्यालय परिसर, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आईजीएमसी), बालूगंज आवासीय क्षेत्र तथा हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के साथ सचिवालय में भी आयोजित किया जाएगा। यह जानकारी आज उपायुक्त शिमला श्री अमित कश्यप ने दी।

जिला प्रशासन द्वारा आज माॅक अभ्यास के लिए चिन्हित स्थानों पर जाकर जायजा लिया गया। माॅक ड्रिल के सफल आयोजन के लिए सेना, गृह रक्षक वाहिनी व अन्य संबद्ध विभागों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।

उन्होंने बताया कि माॅक अभ्यास का उद्देश्य भूकंप के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाना तथा विभिन्न विभागों का आपदा राहत तत्परता का परीक्षण करना है। आपदा के समय बचाव व राहत कार्यों के लिए विभागीय उपकरणों की समयबद्ध उपलब्धता तथा तैयारियों के संबंध में समीक्षा करना है।

उन्होंने कहा कि सरकारी कार्यालय, प्रतिष्ठान, विद्यालय, और समुदाय एवं अपने स्तर पर भी अपने क्षेत्र में इस माॅक ड्रिल को करना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि 07 फरवरी को प्रातः 11 बजे टेबल टाॅप एक्सरसाईज के तहत संपूर्ण 12 जिलों के उपायुक्त वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ भूकंप आपदा वृहद माॅक अभ्यास के संबंध में की गई तैयारियों के बारे में जानकारी देंगे।

उन्होंने कहा कि भूकम्प के दौरान भूतल पर रहने वाले व्यक्ति तुरंत खुले मैदान में चले जाएं, किंतु ध्यान रहे कि वहां बड़े पेड़, बिजली के खंबे, मोबाइल टावर, मकान या ओवरब्रिज न हो। घर के अंदर रहने वाले किसी मजबूत दीवार इत्यादि के साथ खड़े हो जाएं या ड्राॅप कवर होल्ड का प्रयोग करें। ध्यान रहे घर या भवन के अंदर कांच की खिड़की, गिरने वाली वस्तुओं से दूर रहें। बहुमंजिला मकान से नीचे उतरने में लिफ्ट का प्रयोग न करें। विकलांग, वृद्ध, बच्चों या गर्भवती महिलाओं का विशेष ध्यान रखें।

उन्होंने कहा कि बचाव में सुरक्षा को देखते हुए भूकंप आने से पहले हम सदैव ध्यान रखें कि मकान खरीदते या निर्माण करते समय उन्हें भूकम्प रोधी बनाएं। मकानों का निर्माण प्रशिक्षित संरचना अभियंता की सलाह से करें।

उन्होंने कहा कि आपदा के पश्चात अफरा-तफरी न मचाएं, पुनः भूकम्प के झटकों के प्रति सचेत रहें। घायल व फसे लोगों की मदद करने में तत्परता दिखाएं व आवश्यक हो तो प्राथमिक उपचार भी दें। आपदा के दौरान अफवाहें न फैलाएं

और विश्वसनीय सूचना के लिए रेडियो संदेश सुने। सहायता के लिए टाॅल फ्री नंबर 1070, 1077, 100, 101 व 108 नंबर पर संपर्क करें।

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय परिसर में छात्रों व स्थानीय लोगों को माॅक ड्रिल अभ्यास में सेना की टुकड़ी तथा गृह रक्षक वाहिनी द्वारा भूकम्प आपदा के दौरान किए जाने वाले राहत कार्यों के बारे में जानकारी प्राप्त होगी।

उन्होंने बताया कि 08 फरवरी को आयोजित इस भूकम्प आपदा वृहद माॅक अभ्यास के दौरान निरंकारी मिशन, सिंघ सभा, सनातन धर्मा सभा,एनएसएस व एनसीसी कैडेट, नेहरू युवा केंद्र के स्वयंसेवक भी भाग लेंगे।

माॅक अभ्यास स्थलों के निरीक्षण के दौरान अतिरिक्त उपायुक्त देवाश्वेता बनिक, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी (कानून एवं व्यवस्था) श्रीमती प्रभा राजीव, प्रोटोकाॅल श्री जीसी नेगी, उप मण्डलाधिकारी ग्रामीण श्रीमती नीरज चांदला, उप मण्डलाधिकारी शहरी श्री अनिल शर्मा, कमांडेंट होमगार्ड श्री बीएस चैहान, जिला युवा समन्वयक श्री प्रभात कुमार तथा विभिन्न विभागों के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here