प्रत्यक्ष लाभ अंतरण परियोजना के तहत जिला में कृषकों को मिलने वाली खाद, अब पीओएस (प्वाइंट आॅफ सेल) मशीन के माध्यम से प्राप्त होगी।

0
578

आई 1न्यूज़ :संदीप कश्यप

शिमला: 01 फरवरी 2018

प्रत्यक्ष लाभ अंतरण परियोजना के तहत जिला में कृषकों को मिलने वाली खाद, अब पीओएस (प्वाइंट आॅफ सेल) मशीन के माध्यम से प्राप्त होगी। जिला में खाद पर प्रत्यक्ष लाभ अंतरण योजना का शुभारंभ करते हुए अतिरिक्त उपायुक्त श्रीमती देवाश्वेता बनिक ने यह जानकारी आज यहां दी।

उन्होंने बताया कि जिला के विभिन्न विकासखंडों में खाद डिपो धारकों को कुल 204 पीओएस मशीनें वितरित की गई हैं, जिसमें 139 पीओएस मशीनों ने कार्य करना आरंभ कर दिया है।

उन्होंने बताया कि खाद पूर्व की भांति भविष्य में भी सब्सीडी मूल्य पर मिलेगी, जिसके लिए किसानों अथवा उपभोक्ताओं को अतिरिक्त कीमत नहीं देनी होगी। उन्होंने बताया कि खाद खरीदने हेतु आधार कार्ड बेहतर विकल्प है, परंतु इसके न होने पर आधार पंजीकरण संख्या व अन्य मानक पहचान पत्र जैसे वोटर आईडी कार्ड, किसान क्रेडिट कार्ड का उपयोग कर खाद खरीदी जा सकती है।

उन्होंने बताया कि इस योजना से जहां पारदर्शिता आएगी, वहीं कालाबाजारी तथा अवैध धन वसूली की भी रोक लगेगी। उन्होंने बताया कि यह पीओएस मशीन केवल वैध लाईसेंस होल्डर, परचून खाद विक्रेताओं, सहकारी सभाओं तथा डिपो होल्डरों को दी जाएगी।

उन्होंने बताया कि इससे मशीन द्वारा धारक अपनी बिक्री एवं स्टाॅक रिपोर्ट भी निकाल सकते हैं। खादों की उपलब्धता व आॅनलाईन निगरानी भी रखी जा सकती है।

उन्होंने बताया कि अब केवल पीओएस मशीन द्वारा ही खाद विक्रय की जाएगी, नियम का उल्लंघन करने पर नियमानुसार विभागीय कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

बैठक में उप कृषि निदेशक डाॅ. प्रेम प्रकाश वर्मा, जिला कृषि अधिकारी डाॅ. मोहिन्द्र भवानी, कृषि विकास अधिकारी डाॅ. मुनीश सूद के अतिरिक्त जिला के विभिन्न विकास खंडों से लगभग 35 कृषक व डिपो धारक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here