12 साल से कम उम्र की बच्ची से रेप करने वाले को दिलाएंगे फांसी की सजा सीएम का ऐलान

0
533
ब्यूरो रिपोर्ट :21 जनवरी 2018
पिछले कई दिनों से हरियाणा में बेटियों के साथ हो रही दरिंदगी पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कड़ा संज्ञान लिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में 12 साल से कम उम्र की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने वाले को फांसी सजा दी जाएगी, इसके लिए जल्द ही प्रदेश सरकार सख्त कानून लेकर आएगी।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि वे अदालत से भी अपील करेंगे कि ऐसे मामलों की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हों और एक-डेढ़ साल में ही ऐसे मामलों में न्यायालय फैसला सुनाएं, ताकि ऐसी प्रवृति वाले व्यक्तियों में भय का माहौल बना रहे। मुख्यमंत्री शनिवार को करनाल में करीब 225 करोड़ रुपये से बनने वाली नई चीनी मिल का शिलान्यास कार्यक्रम में संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने समाज के लोगों से भी अपील की कि वे ऐसी घटनाओं की निंदा करें, पुलिस और सरकार का सहयोग करें। सीएम ने कहा कि ऐसी घटनाओं की जितनी निंदा की जाए, उतना कम है। सीएम ने कहा कि रेप जैसे अपराधों में पुलिस अनुसंधान और अध्ययन में यह बात सामने आई है कि 75 प्रतिशत से अधिक मामले पड़ोसी या एक दूसरे के पहले से जानकार वालों में होते हैं।

पहले एफआईआर ही दर्ज नहीं होती थी

ह​रियाणा में महिलाओं से जुड़े बढ़ते अपराध – फोटो : file photo
पहले एफआईआर ही दर्ज नहीं होती थी
प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री ने एक बार फिर पिछली सरकारों को आड़े हाथों लिया। सीएम ने कहा कि पिछले तीन सालों में कानून व्यवस्था की स्थिति प्रदेश में पहले की तुलना में बेहतर रही है। पहले एफआईआर दर्ज कराने के लिए पुलिस थानों में लोग फरियाद लगाते रहते थे और सुनवाई नहीं होती थी, अब हर कोई कहीं से भी एफआईआर दर्ज करवा सकता है। हर शिकायत पर केस दर्ज होने के कारण ही कुछ आंकड़े बढ़े हैं। सीएम ने दावा किया कि पहले के मुकाबले अपराध के आंकड़ों में कमी आई है।

सनसनी न फैलाने की अपील
बढ़ती रेप की घटनाओं को लेकर सीएम मनोहर लाल आहत नजर आए। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे वारदातों से आहत हैं, लेकिन इसे रोकने के लिए पुलिस के साथ-साथ समाज को भी जिम्मेदारी निभानी होगी। मीडिया के सामने मुख्यमंत्री ने पिंजौर में हुई घटना का जिक्र करते हुए कहा कि जिस युवक को गिरफ्तार किया था, उसके बयान और होश आने पर लड़की के बयान एक समान थे। लड़की ने कहा था कि वह मैदान में साइकिल सीख रही थी और हैंडल से उसे चोट लग गई। युवक तो केवल उसको घर तक छोड़ कर आया था। मुख्यमंत्री ने मीडिया से भी अपील की कि वे ऐसी घटनाओं पर सनसनी फैलाने से बचें।

गुजरात से लें भाई और बहन के संस्कार
मुख्यमंत्री ने गुजरात का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां पर हर पुरुष के नाम के साथ भाई और महिला के साथ बेन (बहन) शब्द लगाते हैं, यह एक अच्छे संस्कारों की परंपरा है। हमें भी अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देने चाहिए। बच्चों को बताना चाहिए कि भाई और बहन का रिश्ता कितना पवित्र होता है। संस्कारों से ही समाज को सुधारा जा सकता है। गलत काम करने वालों को कड़ी सजा दिलानी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here