उठाया ये मसला पीएम नरेंद्र मोदी से मिले डॉ. राजीव बिंदल

0
496
ब्यूरो रिपोर्ट :20जनवरी 2018
हिमाचल विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल ने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से शिष्टाचार भेंट की। जबकि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात कर नाहन में सेना और स्थानीय लोगों के मध्य दशकों से चल रहे विवाद को सुलझाने के लिए आवश्यक दस्तावेज प्रस्तुत किए।

डॉ. राजीव बिंदल ने केंद्रीय रक्षा मंत्री को अवगत कराया कि लगभग 45 वर्ष पूर्व भू-व्यवस्था विभाग की बंदोबस्त की त्रुटियों के कारण सेना और स्थानीय लोगों के मध्य भूमि संबंधी विवाद पैदा हो गया था जिस कारण नाहन शहर के वार्ड नंबर 12 और इसके साथ लगते 12 गांव के लोगों को काफी परेशानी हो रही है।

बंदोबस्त की चूक के कारण इस क्षेत्र में रहने वाले सैकड़ों परिवार प्रभावित हो रहे हैं। इस मामले के समाधान के लिए अनेकों बार राज्य एवं केंद्र सरकार से मामला प्रभावी ढंग से उठाया गया है। तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर परिकर से भी इस बारे विस्तार से चर्चा की गई थी।

बिंदल ने रक्षा मंत्री से उठाई ये मांग

इसके बाद रक्षा विभाग ने राज्य सरकार को पत्र भेजकर सूचित किया था कि यदि स्थानीय नागरिकों के कब्जेे के एवज में इतनी ही भूमि हिमाचल प्रदेश सरकार सेना को स्थानांतरित करती है तो मामले का समाधान हो जाएगा।

डॉ. बिंदल ने केंद्रीय मंत्री से आग्रह किया कि पूर्व में रक्षा मंत्रालय द्वारा जारी निर्देश के अनुरूप इस मामले को और गति प्रदान की जाए। विवाद के कारण नाहन नगर परिषद के वार्ड नंबर 12 तथा साथ लगते कुल 12 गांव जाब्बल का बाग, जलापडी, रामकुंडी, सिंबलवाला, रोड़ावाली, लाडली, गाडडा धारक्यारी,बुब्बीधार,

बिक्रम कैंसल, मझौली, कोटडी, गदपेडला तथा भलगों आदि गांवों के लोग प्रभावित हो रहे हैं।  उन्होंने रक्षा मंत्री को अवगत करवाया कि भूमि विवाद के कारण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्माणाधीन पांच किलोमीटर लंबी बनोग-जाबल का सड़क का निर्माण कार्य भी अवरुद्ध पड़ा है। रक्षा मंत्री ने अध्यक्ष विधानसभा डॉ. राजीव बिंदल को आश्वासन दिया कि इस मामले पर गंभीरता से कार्य किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here