अगर अब आप चंडीगढ से नई दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस से सफर करेगें तो आपकों ट्रेन के कोच में फर्क नज़र आएगा

0
520
today news in hindi chandigarh
चंडीगढ 6 जनवरी 2018 (अमित सेठी) 
अगर अब आप चंडीगढ से नई दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस से सफर करेगें तो आपकों ट्रेन के कोच में फर्क नज़र आएगा,पहले से ज्यादा सुंदर और सहुलियत के कोच में आपकों सफर करने का मौका मिलेगा क्योकिं अोपरेशन स्वर्ण के अंतर्गत चंडीगढ से नई दिल्ली शताब्दी ट्रेन नंबर12045/46 को रेलवे मंत्रालय द्वारा अपग्रेड किया गया है। 
 चंडीगढ से नई दिल्ली के लिए चलने वाली शताब्दी नंबर 12045/46 के इंटरियर में यहां बदलाव किया गया है वहीं सहुलियत में भी बढौतरी की गई है, खास तौर पर जो नेत्रहीन है अभी उनको भी अपनी सीट ढुंढने में दिक्कत नही आएगी,क्योकिं सीट नंबर प्लेट पर बैरेल भी करवाया गया है तांकि नेत्रहीन शख्त अपनी सीट को आराम से ढूंढ सके…चाहे डोरवे हो, गैंगवे हो, शौचालय हो, लगेज रैक पैनल हो या सीलिंग हर जगह पर vinyl wrapped interior दिखेगा। इसके साथ ही लगेज रैक की जो कौटिंग एन्टी अवरेसिव पैंट से करवायी गई है तांकि समान रखने से रैक पर कोई सकरेचिस न आए। टुरिज़म प्लेसस को प्रमोट करने के लिए भारत के प्रसिद्ध नमुनों के पोस्टर भी लगाए गए है। 
बाइट— डी सी शर्मा, डीआरएम। 
सिर्फ इन्टरीयर हीं नही बल्कि शौचालय जिसको लेकर सबसे ज्यादा लोगो की शिकायतें रहती है उससे जुडी फेसीलिटिस को भी इंम्प्रूव करने की कोशिश की गई है। ओटो जेनीटर लगाया गया है, पुश बटन सोप डिसपेंसर लगाया गया है,,लोग पानी को ज्यादा व्यर्थ न करें इसके लिए वाटर कंट्रोल मशीन भी लगाई गई है,एक कोच के अपग्रेडशन पर करीब 2,22,107 रूपए का खर्चा आया है, और 10 कोच को अपग्रेड किया गया है। 
बाइट— डी सी शर्मा, डीआरएम। 
 
 आपकों बतां दे चंडीगढ रेलवे स्टेशन को वल्ड कलास बनाने की बात चल रही थी लेकिन इसको अभी वक्त लगेगा इसके साथ ही तेजस ट्रेन चलने में भी अभी इंतज़ार करना पडेगा अंबाला से चंडीगढ आए डी आर एम डी सी शर्मा ने इसकी जानकारी दी, हालांकिं चंडीगढ रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम न होने को लेकर उन्होने कहा कि उनके संज्ञान में अभी ये मामला आया है वो एकशन लेेंगे, गौरतलव है चंडीगढ के प्रवेश दृारा पर न तो कोई पुलिस कर्मी नज़र आता है और न मैटल डिटेक्टर लगें हुए है लिहाज़ा चंडीगढ रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा व्यव्स्था कितनी कडी है उसकी पोल इससे ही खुल जाती है कि स्टेशन की एेंटरी कई जगहों से है और मेटल डिटेक्टर कहीं नही लगे हुए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here