स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि हाई रिस्क प्रैगनेंसी (एचआरपी) पोर्टल का भारम्भ करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य बन गया  है

0
777
today news in hindi chandigarh

6 जनवरी 2018 (अमित सेठी) चण्डीगढ़, 6 जनवरी – हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि हाई रिस्क प्रैगनेंसी (एचआरपी) पोर्टल का भारम्भ करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य बन गया  है और इस पोर्टल से निम्न स्तर तक हाई रिस्क प्रैगनेंट मामलों की शीघ्र पहचान करने में सहायता मिलेगी और विशेषज्ञों द्वारा आगामी प्रबन्धन और डिलिवरी कराने के लिए सिविल अस्पतालों में उन्हें समय पर रैफर किया जा सकेगा।

विज ने कहा कि नीति आयोग और केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा भी इस पोर्टल की सराहना की जा रही है। नवम्बर, 2017 से प्रदेशभर में हाई रिस्क प्रैगनेंसी आधारित नामों की शत-प्रतिशत पहचान करने के लिए हाई रिस्क प्रैगनेंसी पोलिसी लागू की जा रही है और इससे सिविल अस्पतालों में विशेषज्ञों द्वारा उनका प्रबन्धन और डिलिवरी सुनिश्चित की जा रही है।

विज ने कहा, ‘इस पहल से मातृ-मृत्यु दर (एमएमआर), शिशु मृत्यु दर (आईएमआर) में निश्चित रूप से तेजी से गिरावट आएगी तथा इस समय जन्म के समय बीमारी के कारण और हाई रिस्क प्रैगनेंट मामलों में मृत्यु दर बहुत अधिक है, यदि इनका समय पर प्रबन्धन न किया जाए।’

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिवअमित झा ने कहा, ‘इस अनूठी वैब एप्लिकेशन को डिलिवरी के 42 दिनों तक प्रत्येक हाई रिस्क गर्भवती महिलाओं का पता लगाने के लिए बनाया गया है ताकि प्रत्येक हाई रिस्क गर्भवती महिलाओं को पर्याप्त उपचार मिल सके।’

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की मिशन निदेशक श्रीमती अमनीत पी कुमार ने कहा कि सभी सिविल सर्जनों को एचआरपी पोर्टल में हाई रिस्क गर्भवती मामलों की शतप्रतिशत प्रविष्टि कराने और विशेषज्ञों द्वारा सिविल अस्पतालों में उनका प्रबन्धन करने के लिए निर्देश जारी किए गये हैं। भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में 5 जनवरी, 2018 को दिल्ली में आयोजित सम्मेलन में केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा नीति आयोग ने क्रियान्वित किए जा रहे हाई रिस्क प्रैगनेंसी पार्टल को एक अच्छी पहल बताया है।

उन्होंने आगे कहा कि हरियाणा में बर्थ कम्पेनियन स्ट्रेटिजी भी लागू की है, जिसके तहत प्रसूति के दौरान लेबर रूम में एक महिला अटेंडेंट को जाने की अनुमति दी जाएगी। प्रसूति के दौरान एक महिला के बर्थ कम्पेनियन की उपस्थिति से लेबर रूम में देखभाल की गुणवत्ता में और अधिक सुधार आएगा।

सूजसविह-2018
चण्डीगढ़, 6 जनवरी – हरियाणा के जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी राज्यमंत्री डा. बनवारी लाल ने कहा है कि रेवाडी व महेन्द्रगढ जिला के सभी गांवों को नहरी पेयजल योजना से जोडा जाएगा ताकि पीने के पानी की कोई समस्या न रहें।

डा. बनवारी लाल आज रेवाडी जिला के करावरा मानकपुरा गांव में 3 करोड 29 लाख रूपये की लागत से बनने वाले जलघर की आधारशिला रखने के उपरांत जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसी भी गांव में पेयजल की कोई समस्या नहीं रहेगी इसके लिए जनस्वास्थ्य विभाग ने एक योजना बनाई है जिसका परिणाम अगले दो वर्षो में देखने को मिलेगा। डा. बनवारी लाल ने बताया कि कोसली विधानसभा क्षेत्र में 109 करोड 25 लाख रूपये की लागत से 74 कार्य जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा जैसे नये जलघर, बुस्टिंग स्टेशन, नलकूप, डीआईपाईप लाईन, सीवरेज लाइन आदि कार्य किये जा रहे है ताकि पीने के पानी की कोई समस्या न रहें।

उन्होंने कहा कि दक्षिणी हरियाणा में पानी का लेवल काफी नीचे चला गया है इसलिए इस क्षेत्र में पानी की समस्या न रहे इस क्षेत्र को नहरी पेयजल योजना से जोडा जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास है कि हर घर को पानी मिले तथा महिलाओं को पानी के लिए बाहर न जाना पडे इसके लिए विभाग ने कई नये कदम उठाये है।

जनस्वास्थ्य अभियान्त्रिकी राज्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल के नेतृत्व में प्रदेश सरकार सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों में समान रूप से विकास कार्य करवा रही है। किसी भी क्षेत्र के साथ विकास व नौकरियों में भेदभाव नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पण्डित दीनदयाल उपाध्याय के सिद्धांत व अन्तोदय पर चलते हुए सरकार का लक्ष्य है कि सरकारी योजनाओं का लाभ अंतिम पंक्ति में खडे हुए व्यक्ति तक पहुंचें।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने जनस्वास्थ्य विभाग का महकमा इस क्षेत्र को देने से ही पानी की समस्या हल की जा रही है तथा आगामी 30 वर्षो तक पीने के पानी की कोई समस्या न रहे उसी दृष्टि से कार्य किया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार ने पारदर्शिता के आधार पर योग्य व्यक्तियों को रोजगार दिया है, यहीं कारण है कि महेन्द्रगढ व रेवाडी जिला के युवाओं को पुलिस में भर्ती होने का मौका मिला है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार में अब नौकरी के लिए मन्त्रियों के चक्कर नहीं काटने पडते। योग्य व्यक्तियों को मैरिट के आधार पर नौकरियां मिल रही है। प्रदेश सरकार ने नौकरियों की बन्दरबाट बंद की है। उन्होंने कहा कि सरकार की नियत साफ है तथा कुछ विरोधी गुट कोर्ट में जाकर नियुक्तियों को लटकवा रहे है। जिसके कारण नौकरियों में देरी हो रही है लेकिन प्रदेश सरकार कोर्ट में ढंग से पैरवी कर रही है तथा जहां पर रोक है उनको दूर किया जाएगा। मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ऐसी योजनाएं बनाती है जिनका लाभ गरीबों को मिलें।

कोसली के विधायक बिक्रम सिंह यादव ने इस अवसर पर कहा कि पचास वर्षो में जो कार्य इस क्षेत्र में नहीं हुए थे वे कार्य अब पूरे हो रहे है। उन्होंने कहा कि कोसली क्षेत्र में जो भी परियोजनाएं चल रही है वे समय सीमा में पूरी हो इसके लिए प्रयास किये जा रहे है।

इस अवसर पर ब्लाक समिति जाटूसाना के चेयरमैन राजकुमार, ब्लाक समिति के सदस्य रणसिंह, रोहतास, रामौतार, लालसिंह, मास्टर कृष्णलाल, राजाराम सरपंच, जनस्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अभियंता दलबीर सिंह, कार्यकारी अभियंता फूल सिंह व प्रेम सिंह, उपमण्डल अभियंता इन्द्रजीत सिंह सहित अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।

सूजसविह-2018

 

चण्डीगढ़, 6 जनवरी – हरियाणा उच्चतर शिक्षा विभाग की प्रधान सचिव श्रीमती ज्योति अरोड़ा राजकीय महाविद्यालयों, सहायता प्राप्त महाविद्यालयों और स्व-वित्त पोषित डिग्री महाविद्यालयों के प्राचार्यों के साथ 8 जनवरी को प्रात: 10:30 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक वीडियो कान्फ्रेंसिंग करेंगी।

एक सरकारी प्रवक्ता ने आज यहां जानकारी देते हुए बताया कि इस वीडियो कान्फ्रेंसिंग का एजेंडा निम्न बिंदुओं पर केन्द्रित होगा, जिनमें पाठ्यक्रम योजना की स्थिति, तर्कसंगत वर्कलोड, एनएएसी आकलन और मान्यता, विद्यार्थियों की मेंटोरशिप रिपोर्ट, विद्यार्थियों की प्लेसमेंट, डिजिटल लर्निंग, फाइनल वर्ष के पासआउट विद्यार्थियों की स्थिति, वाईफाई कैम्पस, स्मार्ट कक्षा कक्षों का स्टेटस, स्पोकन ट्यूटोरियल आईआईटी, बॉम्बे (एमओयू), कम्प्यूटर प्रयोगशाला और अन्य मामलों को विश्वविद्यालयों के साथ उठाया जाएगा, शामिल हैं।

सूजसविह-2018

 

चण्डीगढ़, 6 जनवरी – हरियाणा के जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी राज्यमंत्री डा. बनवारी लाल ने कहा है कि कांग्रेस व इनेलो पार्टी ने अपने शासनकाल में भाई भतीजावाद व क्षेत्रवाद की राजनीति की तथा दक्षिणी हरियाणा की विकास कार्यो में अनदेखी की, इसलिए जनता ने इन पार्टियों को नकार दिया है।

डा. बनवारी लाल गुरावडा गांव में 2 करोड 54 लाख रूपये की लागत से डीआई पाईप लाईन योजना की आधारशिला रखने के बाद जनसमूह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि यह डीआई पाईप लाईन गुरावडा गांव के अन्दर 18 किलोमीटर क्षेत्र में डाली जाएगी तथा इस गांव के घर-घर में पानी पहुंचेगा।

उन्होंने कहा कि केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह व स्वयं ने इसलिए कांग्रेस पार्टी छोडी थी क्योकि यह पार्टी दक्षिणी हरियाणा के साथ विकास कार्यो में भेदभाव कर रही थी। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार विशेष जाति व विशेष क्षेत्र के लिए कार्य करती थी। लेकिन वर्तमान प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा एक-हरियाणवी एक व सबका साथ-सबका विकास के साथ चल रही है तथा किसी भी जाति व क्षेत्र के साथ कोई भेदभाव नहीं किया जा रहा है।

डा. बनवारी लाल ने कहा कि राव इन्द्रजीत सिंह के प्रभाव से प्रदेश में पहली बार अपने दम पर भाजपा सरकार बनाने में सफल हुई है। उन्होंने कहा कि यदि राव इन्द्रजीत सिंह उन्हें टिकट नहीं दिलाते तो वे मंत्री नहीं बन पाते। राव इन्द्रजीत सिंह का प्रभाव राजनीति में किसी से छुपा हुआ नहीं है।

कोसली के विधायक बिक्रम सिंह यादव ने भी केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह की प्रशंसा करते हुए कहा कि इलाके के विकास के लिए जो भी वे कर सकते है वह कर रहे है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ईमानदारी के साथ कार्य कर रही है। जिसका परिणाम सबके सामने है कि यहां के लोगों को योग्यता के आधार पर रोजगार मिल रहा है। विधायक ने कहा कि जनता ने जो ताकत उन्हें दी है उसका इस्तेमाल वे निजी कार्यो के लिए नहीं करेगें।

इस अवसर पर ब्लाक समिति जाटूसाना के चेयरमैन राजकुमार, सरपंच स्नेहलता, मास्टर अरूण कुमार, धर्मवीर, युद्धिष्टर, कृष्ण कुमार पंच, जनस्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अभियंता दलबीर सिंह, कार्यकारी अभियंता फूल सिंह व प्रेम सिंह, उपमण्डल अभियंता इन्द्रजीत सिंह सहित अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।

सूजसविह-2018

 

चण्डीगढ़, 6 जनवरी – हरियाणा के वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कांग्रेस व इनेलो नेताओं को चुनौती देते हुए दावा किया कि वर्तमान भाजपा सरकार के तीन साल के कार्यकाल के दौरान अनुसूचित जाति व पिछड़े वर्ग के कल्याण व विकास के लिए जितने कार्य हुए हैं उतने कांग्रेस-इनेलो की सरकारों के दौरान दशकों में भी नहीं हुए। भूपेंद्र हुड्डा सरकार के कार्यकाल के दौरान अनुसूचित जाति व पिछड़े वर्ग के विद्यार्थियों को मिलने वाले वजीफे का वर्तमान सरकार ने भुगतान करते हुए इनके अब तक के बैकलॉग को पूरा कर दिया है।

कैप्टन अभिमन्यु आज नारनौंद के गांव खांडाखेड़ी में 6 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली सीएचसी (सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र) के भूमि पूजन कार्यक्रम के पश्चात ग्रामीण जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि भाजपा को किसान विरोधी कहने वाले कांग्रेसी नेता इस तथ्य को झुठलाना चाहते हैं कि पिछली केन्द्र व राज्य सरकारों ने अपने 10 साल के कार्यकाल के दौरान गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य में केवल 310 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की थी जबकि वर्तमान भाजपा सरकार केवल तीन साल के कार्यकाल में ही इसमें 335 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी कर चुकी है। इतना ही नहीं, भूपेंद्र हुड्डा सरकार द्वारा 10 साल के कार्यकाल में प्राकृतिक आपदा से प्रभावित किसानों को 810 करोड़ रुपये का मुआवजा दिया गया था जबकि वर्तमान सरकार 3 साल में ही किसानों को 3000 करोड़ रुपये का मुआवजा वितरित कर चुकी है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस सरकार के कार्यकाल का काफी बकाया मुआवजा भी वर्तमान सरकार ने किसानों को दिया है।

उन्होंने बताया कि पिछली सरकारों में विवाह शगुन योजना के तहत मिलने वाली 31 हजार रुपये की सहायता राशि को वर्तमान सरकार ने पहले 41 हजार और फिर इसे बढ़ाकर  खांडाखेड़ी की धरती से 51 हजार रुपये किया गया है। उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस व इनेलो शासन के दौरान करवाए गए विकास कार्यों के मुकाबले वर्तमान सरकार द्वारा तीन साल में करवाए गए विकास कार्यों पर किसी भी विपक्षी नेता से बहस को तैयार हैं।

वित्तमंत्री ने कहा कि मेरा लक्ष्य केवल 50-100 लोगों को नौकरी देना नहीं बल्कि क्षेत्र में ऐसे आधारभूत ढांचे का विकास करना है जिससे यहां रोजगार अपने आप पैदा हों। उन्होंने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य आमजन की मूलभूत जरूरत है। सरकार ने इन दो मूलभूत जरूरतों के साथ-साथ सड़क निर्माण व अन्य आधारभूत ढांचे को सुदृढ़ करने का काम किया है।

उन्होंने संकल्प दोहराते हुए कहा कि वे विकास की ऐसी नींव रख जाएंगे कि लोगों को किसी के आगे हाथ फैलाने की नौबत नहीं आएगी। इस क्षेत्र से भूख और बेरोजगारी खत्म करने की व्यापक सोच के साथ काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं पैसे, कारोबार, गाड़ी, कोठी या चौधर के लिए राजनीति में नहीं आया हूं बल्कि समाज और देश को आज से ज्यादा बेहतर करने के उद्देश्य से राजनीति में आया हूं। कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि प्रदेश के नौजवान अब किसी परिवार की गुलामी नहीं करेंगे। यह सरकार ऐसे कार्य कर रही है जिससे प्रदेश के नौजवानों में से भगत सिंह, राजगुरु, भीमराव अंबेडकर और महात्मा ज्योतिबा फुले जैसे महान व्यक्तित्व तैयार होंगे।

कैप्टन ने कहा कि विकास के मेरे नजरिए को विरोधी समझ चुके हैं और वे समझ गए हैं कि मुझसे सीधा मुकाबला नहीं कर सकते हैं इसलिए अब वे छद्म रूप से मुझ पर आरोप लगाने की कोशिश करते हैं। लेकिन विरोधी यह बात समझ लें कि विकास के साथ षड़यंत्र के उनके मंसूबों को पूरा नहीं होने दूंगा। उन्होंने कहा कि मैं द्वापर युग का नहीं, कलयुग का अभिमन्यु हूं जो विरोधियों के षड़यंत्रों को कामयाब नहीं होने दूंगा। उन्होंने जनता को भगवान श्रीकृष्ण कहते हुए उनसे सहयोग का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि देश को सौभाग्य से नरेंद्र मोदी जैसा प्रधानमंत्री मिला है। ऐसे महान तपस्वी व्यक्तित्व 100-200 सालों में देश को मिलते हैं जिन्हें गरीब व पिछड़ों की पीड़ा की जानकारी है। नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से ऐसे लोगों के पेट में दर्द हो रहा है जो वर्षों से देश को लूटने में लगे थे और जिनके काले धंधे अब बंद हो गए हैं।

वित्तमंत्री ने कहा कि खांडाखेड़ी में पीएचसी को अपग्रेड करने की मांग बहुत पुराने समय से की जा रही थी जिसे वर्तमान सरकार ने पूरा कर दिया है। यहां 6 करोड़ 9 लाख रुपये की लागत से तीन मंजिला सीएचसी भवन बनाया जाएगा। यह भवन अगले 12 माह में बनकर तैयार हो जाएगा, तब तक सीएचसी में स्वास्थ्य सेवाएं जारी रहेंगी। सीएचसी में अच्छी सुविधाएं व आधुनिक उपकरण उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने भूमि पूजन के लिए करवाए गए हवन यज्ञ में आहुति डाली और शांति पाठ किया। वित्तमंत्री ने नए भवन के निर्माण की प्रथम ईंट रखकर तथा नारियल पधारकर निर्माण का शुभारंभ किया। इस अवसर पर ग्रामीणों ने फूलमालाओं व जयकारों के साथ वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु का भव्य स्वागत किया।

इस अवसर पर चेयरमैन शशि ढाका, एसडीएम राजीव अहलावत, पंडित महावीर शर्मा, भाजपा युवा नेता अजय सिंधु, भाजपा की जिला महामंत्री आशा रानी खेदड़, राजेश सूरा, सत्यपाल श्येराण, सतपाल मल्हान, जीता सिंधु, अमित मोर, सुंदर शांडिल्य, वीरेंद्र सिंह, पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डॉ. डीएस सिंधु, बीएंडआर के एसई एचएन सिंगला, एक्सईएन मनोज ओला, एसडीओ अनिल नरवाल, डिप्टी सीएमओ डॉ. जितेंद्र शर्मा, एसएमओ डॉ. यशपाल व डॉ. शमशेर सिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी, भाजपा पदाधिकारी, कार्यकर्ता व कई गांवों के ग्रामीण मौजूद थे।

सूजसविह-2018

 

चण्डीगढ़, 6 जनवरी – हरियाणा की शहरी स्थानीय निकाय व महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती कविता जैन ने कहा कि प्रदेश में कोई भी व्यक्ति खुले आसमान के नीचे नहीं सोएगा। इसके लिए सभी शहरों में स्थाई व अस्थाई रैन बसेरों का इंतजाम किया गया है। इसके साथ ही सभी अधिकारियों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह प्रत्येक बेघर व्यक्ति को आसरा उपलब्ध करवाए।

श्रीमती जैन आज सोनीपत में बस अड्डे के पास अस्थाई रैन बसेरे का उद्घाटन करने के बाद उपस्थित लोगों को संबोधित कर रही थी।

श्रीमती जैन ने कहा कि प्रदेश में रैन बसेरों में सभी बेघरों के लिए उचित इंतजाम किए गए हैं। सोनीपत में शनि मंदिर के पास नगर निगम द्वारा रैन बसेरे का निर्माण किया गया है और शहर में पांच अस्थाई रैन बसेरों का इंतजाम भी किया गया है।

सूजसविह-2018

 

 

चण्डीगढ़, 6 जनवरी – हरियाणा की शहरी स्थानीय निकाय मंत्री श्रीमती कविता जैन ने कहा है कि प्रदेश की सभी पालिकाओं में जरूरतमंदों को कडाके की ठंड में खुले आसमान के नीचे सोने से बचाने के लिए रैन बसेरा की व्यवस्था पुख्ता की जा रही हैं। प्रदेश भर में 103 रैन बसेरे स्थापित किए जा चुके हैं, जबकि 9 शहरों में बढती मांग को देखते हुए एक सप्ताह के अंदर 30 चलते-फिरते रैन बसेरे स्थापित किए जाएंगे। समाजसेवी संगठनों से भी उन्होंने आह्वान किया है कि वह रैन बसेरा की व्यवस्था को बेहतर बनाने में अपना योगदान दें, ताकि जनभागीदारी के साथ जरूरतमंद की मदद का उद्देश्य पूरा किया जा सके।

शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने कहा कि लगातार बढ रही ठंड को ध्यान में रखते हुए शहरी स्थानीय निकाय विभाग द्वारा सभी पालिका क्षेत्रों में बेघर तथा खुले आसमान के नीचे सोने वाले नागरिकों के लिए रैन बसेरा की सुविधा के पुख्ता प्रबंध किए जा रहे हैं। स्वयं मुख्यमंत्री मनोहर लाल रैन बसेरा की व्यवस्था पुख्ता कर रहे है, इसकी निगरानी भी वे स्वयं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न शहरों में पालिका प्रशासन द्वारा रैन बसेरा चिन्हित करते हुए उनमें गद्दे एवं गर्म कंबल, रजाई की व्यवस्था की है। सार्वजनिक स्थानों और शहर में मुनादी के द्वारा ऐसे जरूरतमंदों को जागरूक तथा आमजन को प्रेरित किया जा रहा है, ताकि वह जरूरतमंद को इसका लाभ उठाने के लिए प्रेरित कर सकें। उन्होंने बताया कि गुरूग्राम, फरीदाबाद, रोहतक, बहादुरगढ, यमुनानगर, पानीपत, सोनीपत, पंचकुला, कुरूक्षेत्र में अतिरिक्त व्यवस्था के लिए प्रशासन द्वारा मांग की गई थी। जिस पर 30 चलता-फिरते केबिननुमा रैन बसेरा रखने की मंजूरी दी गई थी। इसमें 17 रैन बसेरे स्थापित कर दिए गए हैं और अगले एक सप्ताह के अंदर सभी चलते-फिरते रैन बसेरे स्थापित करा दिए जाएंगे।

सूजसविह-2018

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here