विजीलेंस द्वारा ए.एस.आई और हवलदार रिश्वत लेते काबू

0
589

आई 1 न्यूज़ अमित सेठी

चंडीगढ़ 28 दिसंबर: पंजाब विजीलेंस ब्यूरो द्वारा भ्रष्टाचार के विरुद्ध जारी मुहिम के दौरान एक ए.एस.आई और हवलदार को रिश्वत लेने के विभिन्न मामलों के अंतर्गत रंगे हाथों काबू किया गया।

     इस संबंधी जानकारी देते हुए विजीलेंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि सी.आई.ए थाना कपूरथला में तैनात ए.एस.आई सतनाम सिंह को शिकायतकर्ता जोगिन्द्र कौर निवासी गांव नवांपिंड भट्टे, कपूरथला की शिकायत पर 10,000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों काबू किया गया है। शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में दोष लगाया कि उक्त ए.एस.आई द्वारा उसे एन.डी.पी.एस मुकदमो में नामज़द करने का डर दे कर उससे 25,000 रुपए की माँग की गई है और सौदा 10,000 रुपए में तय हो गया है।

विजीलेंस द्वारा शिकायत की पड़ताल उपरांत बिछाए गए ट्रैप के दौरान उक्त दोषी ए.एस.आई को दो सरकारी गवाहों की हाजऱी में 10,000 रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ लिया।

        एक अन्य रिश्वत के मामले में डी.एस.पी जलालाबाद में तैनात हवलदार सुखदेव सिंह को शिकायतकर्ता किशन सिंह, निवासी जलालाबाद, फाजिल्का की शिकायत पर 20,000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों काबू किया गया है। शिकायतकर्ता ने विजीलेंस ब्यूरो को अपनी शिकायत में दोष लगाया कि उक्त हवलदार द्वारा उससे नशीले गोलियां जब्त की थीं जिस पर हवलदार द्वारा उसके विरुद्ध मुकदमा दर्ज न करने की एवज़ में 60,000 रुपए रिश्वत की माँग की गई। जिसमें से 40,000 रुपए दोषी हवलदार को पहली किश्त के तौर पर अदा किये जा चुके हैं और बाकी रहते 20,000 रुपए तारीख़ 28-12-2017 को देने तय हुए हैं।

       विजीलेंंस द्वारा शिकायत की पड़ताल उपरांत उक्त दोषी हवलदार को दो सरकारी गवाहों की हाजऱी में दूसरी किश्त के तौर पर 20,000 रुपए की रिश्वत लेते पकड़ लिया।

        प्रवक्ता ने बताया कि उक्त दोनों दोषियों के खि़लाफ़ विजीलेंस ब्यूरो ने भ्रष्टाचार नियंत्रण कानून की अलग -अलग धारायें के अंतर्गत जालंधर और फिऱोज़पुर स्थित विजीलेंस ब्यूरो के थानों में मुकदमे दर्ज करके अगामी कार्यवाही आरंभ दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here