सोलन जिले की वर्ष 2018-19 की 2565 करोड़ रुपये की ऋण योजना जारी

0
756

आई 1 न्यूज़ : संदीप कश्यप

सोलन दिनांक 12.12.2017

अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी संदीप नेगी ने आज यहां सोलन जिले के लिए वर्ष 2018-19 की संभाव्यता युक्त ऋण योजना (पाॅटेंशियल लिंक्ड क्रेडिट प्लान) जारी की। इस योजना को राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) द्वारा तैयार किया गया है। सोलन जिले के लिए वर्ष 2018-19 की ऋण योजना 2565 करोड़ रुपये की होगी।

संदीप नेगी ने इस अवसर पर कहा कि जिले के विकास में विभिन्न बैंक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। बैंकों द्वारा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत प्रदान किए जा रहे ऋण रोजगार एवं स्वरोजगार की दिशा में प्रभावी सिद्ध हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि विभिन्न बैंकों को ग्रामीण स्तर तक जागरूकता शिविरों के माध्यम से लोगों तक विभिन्न योजनाओं की जानकारी पहुंचानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सोलन जिले में कृषि क्षेत्र के साथ-साथ विभिन्न उद्योग लगाने की अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने विभिन्न बैंकों से आग्रह किया कि वे ऋण प्रदान करने के लिए रोजगार संभावना युक्त क्षेत्रों पर ध्यान दें। उन्होंने आशा जताई कि ऋण योजना सोलन जिले के समग्र विकास में लाभादायक सिद्ध होगी।

उन्होंने कहा कि अगले वित्त वर्ष में विभिन्न बैंक ऋण योजना के आधार पर अपनी वार्षिक योजनाएं तैयार करें।

नाबार्ड के डीडीएम रविन्द्र सिंह ने सोलन जिले की अगले वित्त वर्ष की ऋण योजना की विस्तृत जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि अगले वित्त वर्ष में सोलन जिले में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों के लिए 1236 करोड़ रुपये के ऋण प्रदान किए जाएंगे। कृषि क्षेत्र के लिए 828 करोड़ रुपये की ऋण योजना रखी गई है। इसमें फसल उत्पादन, अनुरक्षण एवं विपणन पर 442 करोड़ रुपये, कृषि तथा सम्बद्ध कार्यों के लिए सावधि ऋण के रूप में 139 करोड़ रुपये, कृषि आधारभूत संरचना के लिए 143 करोड़ रुपये तथा सहायक गतिविधियों के लिए 102 करोड़ रुपये के ऋण का प्रावधान है। बैंक ऋण के माध्यम से सामाजिक आधारभूत संरचना के लिए ऋण योजना 102 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। वित्त वर्ष 2018-19 की ऋण योजना पिछली योजना से 4.52 प्रतिशत अधिक है।

उन्होंने कहा कि अगले वित्त वर्ष की ऋण योजना का केन्द्रीय विषय ‘जल संरक्षण-प्रति बूंद अधिक फसल’ रखा गया है। उन्होंने कहा कि नाबार्ड वर्ष 2017-18 में जल संरक्षण के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए जल अभियान चला रहा है।

इस अवसर पर भारतीय रिजर्व बैंक के सहायक महा प्रबंधक रवि रावल, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी भानु गुप्ता, उप-निदेशक कृषि डाॅ. बी.एस. गुलेरिया, सहायक निदेशक पशु-पालन डाॅ. सुशील नेगी, जिला कृषि अधिकारी आर.आर. कौशल, यूको आरसेटी के निदेशक राजेश तोमर सहित विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here