अाधे घंटे तक PG में चला मौत का खेल, सामने आई दोस्त के मौत की ये वजह

0
692
शहीद ऊधम सिंह नगर में 30 मिनट कर मौत का खेल चलता रहा, लेकिन आस-पड़ोस के लोगों ने बीच-बचाव की जहमत नहीं उठाई।
  • पीजी में सभी स्टूडेंट दोस्त का बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे थे।

    फगवाड़ा. शहीद ऊधम सिंह नगर में 30 मिनट कर मौत का खेल चलता रहा, लेकिन आस-पडोस के लोगों ने बीच-बचाव की जहमत नहीं उठाई। हमले को मामूली झगड़ा समझ कर कोई कंबल से बाहर नहीं निकला। हमले के बाद एलपीयू में बीटेक का स्टूडेंट आशीष तब तक तड़पता रहा, जब तक उसके दोस्त हॉस्पिटल ले जाने के लिए नीचे नहीं आए। हॉस्पिटल पहुंचने में देर हो गई। डॉक्टरों ने हाथ लगाते ही आशीष को मृत घोषित कर दिया जबकि जख्मी अमन कुमार सिविल हॉस्पिटल में भर्ती है।

    मौत लेकर आया सेलिब्रेशन

    निहालगढ़ की कोठी में बने पीजी में एलपीयू के 6 स्टूडेंट अमन कुमार छपरा (बिहार) और सौरव कुमार, रजत चौबे, आशीष प्रसाद, विवेक कुमार पांडे धनबाद और आकाश श्रीवास्तव अपने दोस्त ऋषभ पटना (बिहार) का जन्मदिन मना रहे थे। हल्ला-गुल्ला होने के कारण उनका पड़ोसियों के साथ विवाद हो गया।

    निहत्थे होने के कारण छिप गए छात्र

    – जन्मदिन का सेलिब्रेशन उनके अपने दोस्त की मौत की वजह बन जाएगा? यह सोचकर पीजी में रहने वाले सभी स्टूडेंट चिंतित हैं।

    – स्टूडेंट्स का कहना है कि जन्मदिन सेलिब्रेशन को रोकने के लिए आए लोगों को उन सभी ने संतुष्ट करके भेज दिया था, बावजूद इसके उनमें से कुछ युवक हथियार लेकर उनके पीजी में पहुंच गए और छात्रों पर हमला बोल दिया।

    – शुरू में तो छात्र यह समझ ही नहीं सके कि तोड़फोड़ और पत्थरबाजी कौन और क्यों कर रहा है। हमलावारों का शोरगुल कम होने पर छात्र बाहर निकले पर हमलावर वहीं खड़े रहे।

    – हमलावर एकदम से अंदर दाखिल हुए और ताबड़तोड़ हमला बोल दिया। हालत यह हुए कि जान बचाने के लिए कुछ छात्र बाथरूम में छिप गए तो कुछ छात्र छत पर जाकर छिप गए।

    – कुछ छात्रों ने तो खुद को अपने कमरों में ही बंद कर लिया। हालात जब पूरी तरह से सामान्य हो गया इसके बाद पीजी में हमले के डर से छिपे छात्र बाहर निकले।

    मोटरसाइकिल से लेकर पहुंचे हॉस्पिटल
    – हमलावरों के चले जाने के बाद स्टूडेंट जब बाहर निकले तो उन लोगों ने अपने साथी आशीष और दूसरे साथी अमन कुमार को फर्श पर लहुलूहान पड़ा देखकर सभी घबरा गए।

    – दोनों बुरी तरह से तड़प रहे थे। फर्श खून से लाल हो गई थी। आनन-फानन में उन लोगों ने दोनों घायलों को मोटरसाइकिल से सिविल हॉस्पिटल फगवाड़ा पहुंचाया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

    – आशीष को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था, जबकि दूसरे छात्र अमन कुमार को भर्ती कर लिया था।
    तीन महीना पहले पीजी में आया था आशीष :

    – मोहल्ले के लोगो ने बताया कि करीब 3 महीने पहले आशीष व उसके साथी यहां रहते हैं। युवकों को पहले कभी भी शोरगुल करते नहीं सुना।

    – वे सुबह 7 बजे पीजी से चलते जाते थे और करीब 7 बजे शाम को ही वापस आते थे। मोहल्ले में लोग उनसे कम ही परिचित थे।

    – करियाना दुकानदार ने भी बताया कि युवकों को कभी ऊंची आवाज में बात करते नहीं सुना।

    दो हमलावर छात्र कोटरानी पुली से पकड़े
    – एलपीयू के छात्रों पर हमला करने वाले दो आरोपियों अशोक कुमार और राहुल कुमार को फगवाड़ा पुलिस ने देर शाम कोटरानी पुली से काबू कर लिया है। जबकि बाकी चार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है।

    – पुलिस ने बताया कि अशोक कुमार पुत्र नसीब चंद, राहुल कुमार पुत्र नसीब चंद, अभिषेक बेटे राहुल (17), अनिकेत पुत्र राहुल (16), रोहित (16) और रिशभ (14) पुत्र अशोक कुमार के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

    – जांच में सामने आया कि मारपीट में आरोपियों से आशीष के सिर पर नाजुक हिस्से पर वार हो गया जिससे उसकी मौत हो गई। आशीष के घरवालों के आने के बाद ही उसका पोस्टमार्टम होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here