हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय में फुल कोर्ट रैफरेंस के तहत दी श्रद्धांजलि

0
446
आई 1 न्यूज़ : संदीप कश्यप
शिमला,
हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय में आज भारत के पूर्व मुख्य न्यायधीश न्यायमूर्ति आदर्श सेन आनन्द तथा हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायधीश सुरेंद्र स्वरूप के निधन पर फुल कोर्ट रैफरेंस के तहत शोक व्यक्त किया गया।
फुल कोट रैफरेंस के तहत हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय केकार्यवाहक मुख्य न्यायधीश न्यायमूर्ति संजय करोल ने अपने शोक संदेश में न्यायमूर्ति आदर्श सेन आनन्द को महान कानूनी विद व महान विद्वान बताया, उन्होंने कहा कि न्यायमूर्ति आदर्श सेन आनन्द ने 39 वर्ष की आयु में जम्मु कशमीर उच्च न्यायालय मंे अतिरिक्त न्यायाधीश का कार्यभार संभाला था। उन्होंने लिंग समानता व मानव अधिकार संरक्षण के संबंध में उच्च निर्णय भी प्रदान किए थे।
उन्होंने कहा कि श्री आदर्श सेन आनन्द वर्ष 2003 में राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष रहे, जिन्होंने देश का उच्च सम्मान पदम विभुषण भी प्राप्त किया।
न्यायमूर्ति सुरेंद्र स्वरूप के निधन पर शोक संदेश व्यक्त करते हुए न्यायमूर्ति संजय करोल ने न्यायमूर्ति सुरेंद्र स्वरूप को न्यायिक प्रक्रिया के क्षेत्र में अत्यधिक अनुभवी बताया। उन्होंने कहा कि न्यायमूर्ति सुरेंद्र स्वरूप अपनी विशिष्ट व्यवहार शैली के लिए भी जाने जाते थे। क्रिकेट खेल के प्रति भी उनका विशेष प्रेम रहा।
उन्होंने बताया कि न्यायमूर्ति सुरेंद्र स्वरूप ने 06 अप्रैल, 1996 से 20 अप्रैल, 2000 तक हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय में अपनी सेवाएं प्रदान की। 14 मार्च 2000 से 19 अप्रैल, 2005 तक न्यायमूर्ति सुरेंद्र स्वरूप हिमाचल प्रदेश उपभोक्ता शिकायत निवारण आयोग के अध्यक्ष रहे।
न्यायमूर्ति संजय करोल ने शोक संतप्त परिवारों के प्रति भी अपनी संवेदनाएं प्रकट की।
श्री श्रवण डोगरा, ऐडवोकेट जनरल एवं अध्यक्ष हिमाचल प्रदेश बार कांउसिल, एसिस्टेंट साॅलिसिटर जरनल आॅफ इंडिया श्री अशोक शर्मा एवं बार ऐसोसिएशन के अध्यक्ष श्री बीएम चैहान ने भी न्यायमूर्ति आदर्श सेन आनन्द व न्यायमूर्ति सुरेंद्र स्वरूप को शोक संदेश के माध्यम से अपनी श्रद्धांजलि व्यक्त की।
फुल कोर्ट रैफरेंस के तहत दो मिनट का मौन रख दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना की गई।
हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति धर्मचन्द चैधरी, न्यायमूर्ति त्रिलोक सिंह चैहान, न्यायमूर्ति सुरेश्वर ठाकुर, न्यायमूर्ति विवेक सिंह ठाकुर, न्यायमूर्ति अजय मोहन गोयल, न्यायमूर्ति संदीप शर्मा एवं न्यायमूर्ति चन्द्रभूषण भी फुल कोर्ट रैफरेंस में उपस्थित थे।
फुल कोर्ट रैफरेंस कार्यवाही का संचालन रजिस्ट्रार जनरल श्री राजीव भारद्वाज द्वारा किया गया।
रजिस्ट्रार जनरल राजीव भारद्वाज, रजिस्ट्रार विजिलेंस श्री अरविंद मल्होत्रा, जिला एवं सत्र न्यायाधीश (लीव रिजर्व) श्री राकेश कैंथला, रजिस्ट्रार जूडिशयल श्री जेके शर्मा, रजिस्ट्रार रूल्स श्री प्रेम पाल रांटा, श्री प्यार चंद रजिस्ट्रार इस्टैब्लिशमेंट, श्री दिवेंद्र चोपड़ा रजिस्ट्रार अकाउंट, रजिस्ट्रार सीपीसी श्री पीएस अरोड़ा तथा हाईकोर्ट बार ऐसोसिएशन के सदस्य तथा हाईकोर्ट के कर्मचारी भी शोक सभा में उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here