लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवाने, ए.वी.एस.एम, एस.एम, वी.एस.एम ने सेना प्रशिक्षण कमान शिमला का पद भार ग्रहण किया

0
879

 

शिमला:ब्यूरो रिपोर्ट  02 दिसम्बर 2017
लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नरवाने, ए.वी.एस.एम, एस.एम,
वी.एस.एम ने  01 दिसम्बर 2017 को सेना प्रशिक्षण कमान शिमला में 20वें जनरल आफिसर कमाडिंग-इन-चीफ के रूप में पदभार ग्रहण किया।
उन्होंने जून 1980 में सिक्ख लाईट इन्फैंट्री की 7वीं बटालियन में कमीशन प्राप्त किया। राष्ट्रीय रक्षा अकादमी पूणे और भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून से स्नातक, अपने प्रख्यात करियर मंे उत्तरी-पूर्व तथा जम्मू और कश्मीर के सक्रिय प्रतिकूल विद्रोह वातावरण, दुर्गम क्षेत्र और शान्तिकाल में अपने विभिन्न पदों पर बेहतरीन सेवा की है।
जनरल आफिसर ने राष्ट्रीय राईफल बटालियन को कश्मीर घाटी में व पैदल सेना ब्रिगेड और असम राईफल मेें इंस्पेक्टर जनरल के पद को उत्तरी-पूर्व में तथा भारतीय सेना की प्रतिष्ठित स्ट्राईक कोर में कुशल कमांड की है। जनरल आॅफिसर ने आर्मी वार कालेज मंे अनुदेशक और म्याॅंमार में भारतीय रक्षा के सहचरी के रूप में अपनी सेवाएॅं दे चुके है। जनरल आफिसर ने चैन्न्ई विश्वविद्यालय से डिफैंस स्टडीज में स्नातकोत्तर तथा इंदौर के डी.ए.वी.वी से डिफैंस एंड मैनजमैंट में एम.फिल की उपाधि प्राप्त की है।
आर्मी कमांडर श्रीमती वीना नरवाने के साथ वैवाहिक बंधन में बंधे, जिन्हें शिक्षण के क्षेत्र में देश-विदेश में 25 वर्षो से भी ज्यादा एक बहुत बड़ा अनुभव है। वह कल्याण गतिविधियों में घनिष्ठता से जुड़ी हुई हैं और अब सेना प्रशिक्षण कमान में आर्मी वाईफ्स वेलफेयर ऐसोसिऐशन में क्षेत्रिय अध्यक्षा के पद पर अपनी जिम्मेवारी सम्भाली है।
लेफ्टिनेंट जनरल अपने लम्बे अनुभव और व्यवसायिक ज्ञान से ‘‘तकनीक युद्ध और कोशल में उत्कृष्टता’’ जो कि सेना प्रशिक्षण कमान का क्रेडो तथा मार्गदर्शन की भावना है, आरट्रेक को और अधिक महान उपलब्धि तथा व्यवसायिक उत्कृष्टता की ओर ले जाकर भारतीय सेना द्वारा भविष्य में युद्ध जीतने के लिए सम्पूर्ण विस्तृत श्रेणी के संघर्ष की तैयारी में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here