विधानसभा सेशन के पहले दिन मौन व्रत रख श्रद्धांजलि दी गई तो वही सेशन को आगे बढ़ाने की मांग पर मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर कहा कि गवर्नमेंट बिजनेस को लेकर शासन का मुद्दा है

0
458
today news in hindi chandigarh

आई 1 न्यूज़ विधानसभा सेशन के पहले दिन मौन व्रत रख श्रद्धांजलि दी गई तो वही सेशन को आगे बढ़ाने की मांग पर मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर कहा कि गवर्नमेंट बिजनेस को लेकर शासन का मुद्दा है और जब गवर्नमेंट बिजनेस है ही नहीं तो उस पर चर्चा किस बात की करेंगे साथ ही कैप्टन अमरिंदर सिंह ने खैरा के उठे सवालों पर जवाब देने से साफ मना कर दिया। विधानसभा सचिन के पहले दिन शिरोमणि अकाली दल की तरफ से प्रकाश सिंह बादल बिक्रमजीत सिंह मजीठिया रविंद्र पाल सिंह चंदूमाजरा शासन के बीच पहुंचे तो वही मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ अन्य मंत्री व विधायक भी शामिल हुए पहले दिन के बीच पंजाब की स्वर्गवास में शख्सियतों को मौन व्रत रखकर श्रद्धांजलि दी गई तो साथ ही सेशन को बढ़ाए जाने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने साफ कहा कि सेशन को किस बात पर आगे बढ़ाया जाना चाहिए क्योंकि स्टेशन का मुद्दा गवर्नमेंट बिजनेस है और जब गवर्नमेंट बिजनेस है ही नहीं तो सेशन को आगे बढ़ाया जाना का मतलब नहीं बनता है।

Bite कैप्टन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री

किसानों के मुद्दे पर बोलते हुए कैप्टन ने कहा कि गन्ना किसानों के लिए समर्थन मूल्य ₹10 बढ़ाया गया है और सरकार किसान कर्ज मुक्ति पर भी काम कर रही है तो ऐसे में समर्थन मूल्य और बढ़ाया जाना सरकार के बस की बात नहीं क्योंकि सरकार के पास पैसा कमाने के जितने रिसोर्ट्स हैं और जो पैसा सरकार के पास है उतने में जो कुछ हम कर रहे हैं उससे ज्यादा करना सरकार के बस की बात नहीं है।

Bite अमरिंदर सिंह

सुखपाल सिंह खैरा के मुद्दे पर बोलते हुए कैप्टन ने साफ तौर पर कहा कि यह कोर्ट मैटर है और अगर सुखपाल सिंह खैहरा को कोई बात अपने पक्ष में लगती है तो वह कोर्ट में जाकर बताएं मैं इस पर किसी भी तरह की टिप्पणी नहीं करुंगा।

Bite राणा गुरजीत
शासन खत्म होने के बाद राणा गुरजीत ने सुखपाल सिंह खैहरा द्वारा लगाए गए आरोपों पर बोलते हुए कहा कि खैरा आरोप लगाते रहते हैं लेकिन जिस तरह से यह कोर्ट मैटर है तो वह इसमें कुछ भी नहीं कहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here