निरंकारी भवन में रविवार को सत्संग का आयोजन किया

0
568

राजगढ़ , ब्यूरो रिपोर्ट : 12 नवम्बर

स्थानीय निरंकारी भवन में रविवार को सत्संग का आयोजन किया गया | जिसकी अध्यक्षता गनपत राम  ने की | उन्होंने निरंकारी सतगुरु माता सविन्द्र हरदेव सिंह जी महाराज के प्रवचनों को उपस्थित संगत को सुनाते हुए कहा  की इस ईश्वर ,परमात्मा ,निराकार का जो बोध हासिल कर लेता है ,उसके मन में उज्जला आ जाता है ,उसके भ्रमो की दीवारे गिर जाती है | जो भ्रम पाल कर वह सारी उम्र बिताता चला जाता है ,जिसके कारन ये दुरिया बनी रहती है ,उन भ्रमो का नाश हो जाता है | जेसे दीपक के जलने से अँधेरे का विनाश हो जाता है ,इसी तरह से ज्ञान उज्जला पाकर ये भ्रम –भंतियाँ मिट जाया करती है |

to day news in chandigarh

उन्होंने कहा की इन्सान सोचते –विचारते नहीं की वेदों –ग्रंथो में इशारे क्या किये गये है ? केसे निबेड़ा होना चाहिय है इस आत्मा का ,किसके कारन ये मनुष्य जन्म सफल माना जायेगा ,कोन स लक्ष्य है जिसकी पूर्ति हर मानव शारीर को धारण करने वाले ने प्राप्त करनी है | आज का इन्सान इसकी तरफ विचार ही नहीं करता बस चलता चला जा रहा है और उम्र तमाम हो जाती है | महापुरुष –संतजन यही कहते है की हे इन्सान तू सच की प्राप्ति कर ले | सत्य ये ईश्वर ,ये पारब्रम्म –परमात्मा ,ये निराकार यही सच है |

इस सत्य को जानना है ,इसको जिन्होंने जाना है ,उन्होंने अपनी आत्मा का भी कल्याण किया है ,उन्होंने परलोक भी सवारा है ,उन्होंने आवागमन के बंधन से भी निजात् आई है और इस लोक की यात्रा को भी आनद पूर्वक तय किया है | अंत में गनपत राम  ठाकुर  ने उपस्थित संगत से विनम्र आग्रह किया की जिस प्रकार सतगुरु माता जी चाहते है हम सभी उसी तरह अपना जीवन जी पाये | इस दोरान नरेश धवन ,राजकुमार सूद , कमल ,तनु साहनी ,नरेश धीमान ,सुदीप ,शगुन ,पवन चौहन ,सुशिल भृगु ,देशराज तोमर ,रविन्द्र  ,दिव्या सहित सेकड़ो श्र्दालुयो ने भाग लिया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here