जीएसटी : हो सकती हैं सस्ती आम जरूरत की 200 चीजें, आज ऐलान संभव

0
498

बिहार के उप मुख्यमंत्री और जीएसटी काउंसिल के सदस्य सुशील मोदी के मुताबिक़, 28 फ़ीसदी टैक्स के दायरे में आनेवाली ज़्यादातर चीज़ों पर टैक्स घटाया जाएगा. इनमें रोज़मर्रा के इस्तेमाल में आनेवाली कई चीज़ें शामिल हैं.

 

  1. शैंपू से लेकर फर्नीचर तक 200 चीजों के दाम सस्ते हो सकते हैं
  2. जीएसटी काउंसिल की बैठक का आज दूसरा दिन
  3. आज हो सकते हैं अहम ऐलान

गुवाहाटी में चल रही जीएसटी काउंसिल की बैठक का आज दूसरा दिन है. बैठक के बाद आम लोगों को कुछ राहत मिलने की उम्मीद है. माना जा रहा है कि शैंपू से लेकर फर्नीचर तक 200 चीजों के दाम सस्ते हो सकते हैं. बिहार के उप मुख्यमंत्री और जीएसटी काउंसिल के सदस्य सुशील मोदी के मुताबिक़, 28 फ़ीसदी टैक्स के दायरे में आनेवाली ज़्यादातर चीज़ों पर टैक्स घटाया जाएगा. इनमें रोज़मर्रा के इस्तेमाल में आनेवाली कई चीज़ें शामिल हैं. इस कदम से न सिर्फ़ आम लोगों को राहत मिलेगी बल्कि कारोबारियों को भी आसानी होगी क्योंकि जीएसटी को लेकर व्यापारी वर्ग काफ़ी परेशान है, खासकर गुजरात विधानसभा चुनावों में कांग्रेस इसे लेकर लगातार बीजेपी को घेर रही है.

दिल्ली के सीएम की मांग – जीएसटी में अधिकतम 12 फीसदी हो टैक्स स्लैब

जीएसटी स्लैब में बदलाव संभव, आम आदमी को मिल सकती है राहत…

  • 28% टैक्स स्लैब की 80% चीज़ें सस्ती हो सकती हैं
  • 28% टैक्स स्लैब में अभी 227 आइटम
  • 80% आइटम 12-18% के टैक्स स्लैब में आ सकते हैं
  • मेकअप, इलेक्ट्रिक बल्ब पर टैक्स घट सकता है
  • रेस्टोरेंट में खाना भी सस्ता हो सकता है

GST परिषद ले सकती है और भी बड़े फ़ैसले…

  • बेनामी संपत्ति पर ऐक्शन के खाके पर विचार
  • रीयल एस्टेट को जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार
  • रीयल एस्टेट के दायरे में आने से घर ख़रीदना सस्ता
  • टैक्स स्लैब घटाने पर फ़ैसला
  • कंपोजिशन स्कीम की सीमा 1.5 करोड़ हो सकती है

इस बैठक को मीडिया की पहुंच से दूर रखा गया था. आज बैठक समाप्त होने के बाद इसके बारे में औपचारिक जानकारी दी जाएगी. राज्य के वित्त मंत्री हेमंत बिस्व सर्मा ने बैठक की तैयारियों का जायजा लेने के बाद सोमवार को संवाददाताओं से कहा था जीएसटी की इस 23वीं बैठक में लघु उद्योगों पर इसके प्रभाव,छोटे व्यापारियों को छूट और अधिकतम खुदरा मूल्य से जुड़े मुद्दों पर चर्चा होनी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here